अपने खेतों में तालाब बना कर करेंगे जल संरक्षण

Share

फुल्लू, रामशंकर, शेरसिंह, गुलाब बने भागीरथी कृषक

बैतूल। खेतों में किसानों द्वारा स्वयं तालाब बनाकर जल संरक्षण करने एवं उत्पादकता बढ़ाने के लिए देवास जिले के पैटर्न पर कमिश्नर नर्मदापुरम् संभाग श्री उमाकांत उमराव द्वारा चलाई जा रही मुहिम से जिले के कृषक दिल खोलकर जुड़ रहे हैं। उन्हें अपने खेतों में तालाब बनाने के फायदे समझ आने लगे हैं। इस विषय पर आयोजित प्रशिक्षण सह कार्यशाला में श्री उमराव के समक्ष ग्राम सेहरा के कृषक श्री रामशंकर हारोड़े, बोरगांव के श्री गुलाबराव खाड़े, रामपुर के श्री फुल्लू सिंह मरकाम एवं रामपुर भतोड़ी के श्री शेरसिंह जंगलू ने अपने खेतों में तालाब निर्माण करवाने की सहर्ष हामी भरी। श्री उमराव ने इन कृषकों को भागीरथी कृषक के सम्मान से नवाजते हुए पुष्पगुच्छ भेंट किए। इस अवसर पर जिला कलेक्टर श्री शशांक मिश्र, मुख्य वनसंरक्षण श्री पीएस चंपावत, सीईओ जिला पंचायत सुश्री शीला दाहिमा, भारत भारती के संचालक श्री मोहन नागर सहित पानी बचाओ अभियान से जुड़े अधिकारी एवं बड़ी संख्या में कृषकगण मौजूद थे।
इस अवसर पर श्री उमाकांत उमराव ने किसानों से अनौपचारिक चर्चा करते हुए उन्हें समझाईश दी कि मौजूदा समय में हम ट्यूबवेल व अन्य साधनों से जमीन के नीचे के पानी का अंधाधुंध दोहन कर रहे हैं, जिससे दिन-ब-दिन भू-जल स्तर तेजी से गिर रहा है। पिछले लगभग 25 सालों में ट्यूबवेल के जरिए जमीन के अंदर करोडों सालों से संचित लगभग 75 प्रतिशत पानी का हम दोहन कर चुके हैं। यदि ऐसी ही स्थिति रही तो भविष्य बड़ा भयावह होगा।
इस अवसर पर कलेक्टर श्री शशांक मिश्र ने कहा कि जिले के अधिकारियों को गांव आवंटित कर तालाब निर्माण हेतु किसानों को प्रेरित करने का काम प्रारंभ किया गया है। एक-एक अधिकारी को हर गांव में न्यूनतम 10-10 तालाब बनवाने के लिए किसानों को राजी करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। किसानों से अपेक्षा है कि वे अपने कृषि के हित में तालाब बनवाने के लिए आगे आएं एवं अपनी सहमति से अवगत कराएं, ताकि शीघ्र तालाब निर्माण के लिए उन्हें उचित मार्गदर्शन एवं सहूलियत मुहैया कराई जा सके।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.