लगातार अध्ययन ही सर्वश्रेष्ठ बनने में सहायक होगा : प्रो. तोमर – नवागत कृषि छात्रों ने जाना कृषि का लक्ष्य और भावी जीवन का तथ्य

Share

जबलपुर। आप उन 900 भाग्यशाली छात्रों में शामिल हैं जिनका चयन पीएटी में शामिल 50 हजार छात्रों में से हुआ है इसलिये आप वैसे ही श्रेष्ठ हैं। जीवन में लगातार अध्ययन ही आपको सर्वश्रेष्ठ बनने में सहायक होगा। तदाशय के सारगर्भित उद्गार जनेकृविवि के कुलपति प्रो. विजय सिंह तोमर ने जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय स्थित विवेकानन्द सभागार में नवागत कृषि छात्रों हेतु आयोजित ओरिएन्टेशन प्रोग्राम में मुख्य अतिथि की आसंदी से व्यक्त किये। प्रो. तोमर ने कहा कि आप देश के भावी कृषि वैज्ञानिक हैं। एक शानदार भविष्य आपका इंतजार कर रहा है।
इस मौके पर अधिष्ठाता कृषि संकाय डॉं. पी.के. मिश्रा, कुलसचिव श्री अशोक कुमार इंगले, संचालक अनुसंधान एवं शिक्षण डॉं. धीरेन्द्र खरे, संचालक विस्तार सेवाएं डॉं. पीके बिसेन, अधिष्ठाता कृषि अभियांत्रिकी संकाय डॉं. आर.के. नेमा, अधिष्ठाता कृषि महाविद्यालय डॉ. (श्रीमती) ओम गुप्ता, अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉं. व्ही.के. प्यासी भी मंचासीन थे। पूर्व में छात्रों ने जहां सस्वर सरस्वती वंदना से शुरूआत की वहीं अधिष्ठाता डॉं. ओम गुप्ता ने अतिथियों का पुष्पगुच्छ से अभिनंदन किया। एकाडेमिक प्रभारी डॉं. जयन्त भट्ट ने नवागत कृषि छात्रों को कृषि का लक्ष्य और भावी जीवन का तथ्य समझाया। उन्होंने एकाडेमिक कलैंडर से अवगत कराते हुये बताया कि फीस में शामिल 184 रूपये में प्रत्येक छात्र का एक लाख का बीमा किया गया है। इस मौके पर समस्त विभागाध्यक्ष, कोर्स टीचर, हास्टल वार्डन, क्लास एडवाइजर, एन.सी.सी., एन.एस.एस., योगा तथा क्रीड़ा प्रशिक्षक एवं बी.एससी. कृषि के नवागत छात्रगण बड़ी संख्या में उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन डॉं. शेखरसिंह बघेल एवं आभार प्रदर्शन अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉं. व्ही.के. प्यासी ने किया।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.