हर गरीब को मिलेगी जमीन : श्री चौहान

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

किसानों को धान रोपा लगाने की मशीन दी मुख्यमंत्री ने

बालाघाट। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार हर गरीब परिवार को रहने लायक जमीन का टुकड़ा और उसे मकान बनवाने के लिए मदद देगी। किसी भी गरीब को बिना जमीन का नहीं रहने देंगे। गरीबों को उनकी जमीन से नहीं हटाया जायेगा, बल्कि उन्हें उसी जमीन का पट्टा दिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान बालाघाट जिले की लांजी तहसील के ग्राम कारंजा में अंत्योदय मेले को संबोधित कर रहे थे। बाला साहब देवरस के जन्म शताब्दी पर आयोजित अंत्योदय मेले में किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, सांसद द्वय श्री विनय सहत्रबुद्धे, श्री बोध सिंह भगत, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रेखा बिसेन, विधायक सुश्री हिना कांवरे, श्री के.डी.देशमुख, डॉ. योगेन्द्र निर्मल, नगर पालिका के अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने लांजी विकासखंड की 37 ग्राम पंचायत को डिजिटल ग्राम पंचायत घोषित किया और वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सरपंचों से बात की। श्री चौहान ने 25 किसान को अनुदान पर धान का रोपा लगाने की मशीन भेंट की। मशीन से धान का रोपा लगाने में मजदूरों पर निर्भरता कम हो जायेगी।

पैडी ट्रांसप्लान्टर मशीन का शुभारंभ

सिर्फ एक लीटर पेट्रोल में डेढ़ घंटे के भीतर एक किसान अब एक एकड़ में धान की रोपाई कर सकेगा। यह सुनकर आपको थोड़ी हैरानी होगी, लेकिन यह संभव होने जा रहा है जापान में कुबोटा पैडी ट्रांसप्लांटर मशीन से। इस मशीन की एक खास बात यह है कि धान की रोपाई के लिये किसान को किसी मजदूर की जरूरत नहीं होगी। मध्यप्रदेश में धान का उत्पादन बढ़ाने और लागत कम करने के लिये प्रदेश सरकार अब जापानी तकनीक अपनाने जा रही है। प्रदेश में इस तकनीक की शुरूआत बालाघाट से। पैडी ट्रांसप्लांटर मशीन के जरिए धान की रोपाई को बढ़ावा देने के लिये प्रदेश सरकार ने किसानों के लिए खास योजना बनाई है। पहले चरण में कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने 100 मशीनों से इसकी शुरूआत करने की योजना को हरी झंडी दी है। किसान आसानी से खरीद सकेंगे पैडी ट्रांसप्लांटर मशीन, इसकी कीमत 2 लाख 50 हजार रुपये की है। इसके लिये सरकार किसानों को 1 लाख 46 हजार रु. की सब्सिडी देगी। इसके बाद किसान महज 1 लाख 6 हजार रु. खर्च कर मशीन को खरीद सकता है। यदि किसान यह राशि नहीं जुटा पाता है, तो जिला प्रशासन स्वरोजगार योजना के तहत किसानों को 25 हजार रु. मार्जिन मनी लेकर किश्तों में मशीन उपलब्ध कराएगा।

इसका प्रयोग प्रदेश में बालाघाट से शुरू हो रहा है। इससे किसानों को निश्चित ही फायदा होगा।
– गौरीशंकर बिसेन,
कृषि मंत्री मध्यप्रदेश

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 7 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।