समस्या – सरसों में कीट समस्या के निवारण के लिये उचित उपाय बतायें। ताकि हानि से रोका जा सके।

Share

– चन्द्रकांत पटेल, नटेरन
समाधान- सरसों की फसल में इस वक्त माहो के अलावा कुछ और कीट आ सकते हैं। उनको नियंत्रित करने के लिये उपाय तत्काल करें अन्यथा उत्पादन प्रभावित हो सकता है।

  • चितकबरा कीट (पेंडीबग) के अलावा आरामक्खी बहुतायत से दिखती है और क्षति पहुंचाती है। एक छिड़काव 200 मि.ली. मैलाथियान 50 ई.सी.प्रति एकड़ को 200 लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें आवश्यकता देखकर 15 दिनों के अंतर से दूसरा छिड़काव भी करें ।
  • बालों वाली सूंडी के प्रकोप को रोकने के लिये 500 मि.ली., एकालाक्स  25 ई.सी अथवा 200 मि.ली. नुवान 76 ई.सी. को 200 लीटर पानी में प्रति एकड़ के हिसाब से दो छिड़काव 15 दिनों के अंतर से करें।
  • तापमान बढऩे पर (फरवरी में) फसल पर भभूतिया रोग भी आ सकता है। बचाव हेतु 2 ग्राम सल्फेक्स/लीटर पानी में घोल बनाकर 15 दिनों के अंतर से दो छिड़काव करें।
Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.