लाजिस्टिक हब मील का पत्थर : श्री जेटली

Share

भोपाल। केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली ने कहा है कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के अथक प्रयासों ने मध्यप्रदेश पर लगे बीमारू राज्य का कलंक कुछ ही समय में मिटा दिया। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि होशंगाबाद में कृषि महाविद्यालय खोला जायेगा। श्री जेटली एवं श्री चौहान गत दिनों होशंगाबाद के पवारखेड़ा में 88 एकड़ में निर्मित 210 करोड़ लागत के देश के सबसे बड़े विश्व-स्तरीय लॉजिस्टिक हब का लोकार्पण और किसान महा-सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।
केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री जेटली ने कहा कि मध्यप्रदेश रेल सुविधा की दृष्टि से पूरे देश से जुड़ा हुआ है। केन्द्र में होने के कारण चारों दिशाओं के लिये यहाँ से रेलमार्ग हैं। इस दृष्टि से यहाँ विकास की अनंत संभावनाएँ हैं। उन्होंने लॉजिस्टिक हब को मध्यप्रदेश की प्रगति में मील का पत्थर बताते हुए कहा कि इससे किसानों का उत्पादन देश के हर स्थान पर पहुँच पायेगा और होशंगाबाद का पूरे देश में महत्व बढ़ेगा। युवाओं को रोजगार मिलेगा और यह क्षेत्र आर्थिक गतिविधियों का महत्वपूर्ण केन्द्र बनेगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि गेहूँ के उत्पादन में मध्यप्रदेश पंजाब और हरियाणा से आगे हैं। उन्होंने कहा कि अन्य फसलों के साथ ही जिन किसानों के पास 5 एकड़ भूमि है तो उन्हें फल-फूल, औषधि और सब्जियों की खेती करना चाहिये। उन्होंने कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये खाद्य प्र-संस्करण के छोटे-छोटे कारखाने सरकार लगायेगी। कुटीर उद्योगों का जाल पूरे प्रदेश में बिछाया जायेगा। उन्होंने कहा कि किसानों के सहयोग से प्रदेश की कृषि विकास दर बढ़ी है। खेती उन्नत हो, इसके लिये हर ब्लॉक में मिट्टी परीक्षण केन्द्र बनाये जा रहे हैं। उन्नत तरीकों की जानकारी दी जा रही है और जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। समारोह को विधानसभा अध्यक्ष श्री सीतासरण शर्मा ने भी संबोधित किया। केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली और मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हब की डिजाइन का अवलोकन किया।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.