सीसीआई खरीदी में थम नहीं रहा शिकायतों का सिलसिला

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

09 दिसम्बर 2020, इंदौर। सीसीआई खरीदी में थम नहीं रहा शिकायतों का सिलसिला किसानों के अनुसार निमाड़ क्षेत्र में सीसीआई द्वारा कपास खरीदी में अनियमितताएं की जा रही हैं , इससे रोज़ विवाद हो रहे हैं l सनावद , भीकनगांव में हंगामा होने के बाद गत दिनों खेतिया कृषि उपज मंडी में भी विवाद होने का मामला सामने आया था l आज भी खेतिया मंडी में खरीदी रुकी हुई है , वहीं दूसरी ओर सीसीआई प्रभारी का कहना है कि किसानों द्वारा कपास में मिलावट की जा रही है , जिसे खरीदने के लिए बाध्य किया जा रहा है l

इन दिनों बड़वानी और खरगोन जिलों की मंडियों में कपास की बहुत आवक हो रही है l सीसीआई खरीदी केंद्रों पर वाहनों की कतार लगी हुई है, लेकिन निर्धारित मापदंड का कपास नहीं होने से सीसीआई द्वारा खरीदी से इंकार किया जा रहा है l इसे लेकर किसान परेशान हो रहे हैं l गत दिनों भी खेतिया मंडी में कपास खरीदी में विवाद होने के बाद खरीदी बंद हो गई थी तो तहसीलदार पानसेमल को हस्तक्षेप करना पड़ा था l इस बारे में सीसीआई प्रभारी श्री गजानन पिसे का कहना था कि किसानों द्वारा वाहनों में कपास मिलावट कर लाया जा रहा है l वाहन में पीछे की ओर 10 -15 क्विंटल अच्छा कपास भरकर अंदर कौड़ी मिश्रित 20 -25 क्विंटल कपास लाया जा रहा है l एक दो वाहनों के कपास को अस्वीकृत किया तो गलत कपास खरीदने के लिए बाध्य किया जा रहा है l सीसीआई भारत सरकार के निर्देशानुसार एफएक्यू का 8 -12 %नमी वाला अच्छी ग्रेड का कपास खरीदती है l बता दें कि विवाद बढ़ने पर तहसीलदार पानसेमल श्री राकेश सस्त्या ने मौके पर पहुंचकर किसानों को समझाइश देकर खरीदी शुरू करवाई थी l सीसीआई प्रभारी के कथनानुसार तहसीलदार ने नियमानुसार खरीदी करने के निर्देश दिए l

सूत्रों के अनुसार खेतिया मंडी में आज भी कपास की खरीदी रुकी हुई है l बता दें कि खेतिया मंडी राज्य के अंतिम छोर पर स्थित होने से यहां महाराष्ट्र के धुलिया जिले के कई किसान कपास बेचने आते हैं l महाराष्ट्र के जो किसान कपास बेचने आए हैं , उनकी खसरा और बी -1 की नकल अद्यतन नहीं होने से रुकावट आ रही है , क्योंकि प्रशासन ने 2020 -21 में बोई फसल को ही खरीदने के निर्देश दिए हैं l इस कारण गतिरोध बना हुआ है l प्रशासन मामले को सुलझाने का प्रयास कर रहा है l

महत्वपूर्ण खबर : 15 दिसंबर को खलघाट और छैगांव माखन में चक्काजाम

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + seventeen =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।