राज्य कृषि समाचार (State News)

प्रदेश में मसाला फसलों के उत्पादन से जुड़े किसानों को दें बढ़ावा

Share
मुख्यमंत्री ने उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण विभाग की समीक्षा की

17 जनवरी 2022, भोपालप्रदेश में मसाला फसलों के उत्पादन से जुड़े किसानों को दें बढ़ावा – मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि उद्यानिकी विभाग ‘एक जिला-एक उत्पादÓ योजना को गंभीरता से ले। उन्होंने कहा कि उद्यानिकी से जुड़े किसानों को चिन्हित उत्पाद की खेती के लिये पर्याप्त प्रशिक्षण भी दिया जाये। श्री चौहान मंत्रालय में उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण विभाग की योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा कर रहे थे। उद्यानिकी, खाद्य प्र-संस्करण (स्वतंत्र प्रभार) एवं नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

आधुनिक नर्सरी बनाएं

श्री चौहान ने कहा कि नर्सरियों को डिमांड ड्रिविन बनाना चाहिये। उन्होंने कहा कि जिन पौधों की माँग होती है, नर्सरियों में ऐसे पौधों के विकास पर जोर दिया जाना चाहिये। विभाग द्वारा बताया गया कि उद्यानिकी नर्सरियों को पीपीपी मोड पर विकसित किया जा रहा है। इस योजना में स्व-सहायता समूह के माध्यम से 137 उद्यानकी नर्सरी स्थापित की गई हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि लहसुन, अदरक, मिर्च, धनिया और अन्य मसाला फसलों के उत्पादन में प्रदेश का देश में अग्रणी स्थान है। मसाला फसलों के उत्पादन से जुड़े किसानों को बढ़ावा देना चाहिये। मसाला फसलों की प्र-संस्करण इकाइयाँ भी लगाना चाहिये। श्री चौहान ने उद्यानिकी फसलों को संरक्षित रखने के लिये कोल्ड-स्टोरेज लगाने पर भी जोर दिया। साथ ही उद्यानिकी किसानों को प्राकृतिक और जैविक खेती से जोडऩे की बात भी कही।

महत्वपूर्ण खबर: इस वर्ष भारतीय आम का स्वाद चखेंगे अमेरिकी

शत-प्रतिशत होगी गिरदावरी

बताया गया कि 20 आदर्श विकासखण्डों में शत-प्रतिशत गिरदावरी की जायेगी। गिरदावरी से उत्पादन, खपत और बचत का आकलन करना संभव होगा। इससे भण्डारण क्षमता का निर्माण और प्र-संस्करण इकाइयाँ स्थापित करने में सुगमता होगी। अपर मुख्य सचिव उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण श्री जे.एन. कंसोटिया ने वर्चुअली शामिल होकर उद्यानिकी विभाग के आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश रोड मैप में सम्मिलित कार्यक्रमों और योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि योजनाओं के क्रियान्वयन को बेहतर ढंग से करने के लिये विभाग द्वारा 179 ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारियों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। साथ ही ग्वालियर में 20 हेक्टेयर भूमि पर अटल फ्लोरीकल्चर गार्डन की स्थापना की जा रही है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *