किसान भाइयों के खेत में पहुंचकर कृषि विशेषज्ञ की भूमिका भी निभा रहे हैं पटेल

Share

12 सितम्बर 2022, हरदा/भोपाल किसान भाइयों के खेत में पहुंचकर कृषि विशेषज्ञ की भूमिका भी निभा रहे हैं पटेल – मध्यप्रदेश सूबे में इन दिनों किसान नेता एवं कृषि मंत्री कमल पटेल किसान भाइयोंके लिए नायक फिल्म द रियल हीरो की भूमिका में नजर आ रहे हैं। तो कहीं-कहीं वे खेत में फसलका निरीक्षण करते हुए फसल विशेषज्ञ डॉक्टर बनकर फसल की देखरेख किसान भाई कैसे करें।इसकी सलाह भी देते हैं। सूबे के कृषि मंत्री कमल पटेल जहा एक और औचक निरीक्षण कर फसलउपार्जन केंद्रों पर छापेमारी करते हैं तो वही किसानों की फसल की सही तुलाई हो रही है या नहीं, तोखुद ही मोर्चा संभाल लेते हैं।खुद ही उपार्जन केंद्र पर तुलावट करते नजर आते हैं।* *पिछले 2 पखवाड़े से प्रदेश के कई जिलों में मंत्री पटेल ने कई जिलों के उपार्जन केंद्रों पर किसानों के बीच इसप्रकार की कार्यवाही को अंजाम दिया है।जिससे किसानों के बीच किसानों ने उन्हें लाजवाब नायककृषि मंत्री के रूप में देख रहे हैं। कमल पटेल के औचक एक्शन और छापामारी कार्यवाही से प्रदेशके ग्रीष्मकालीन किसानों के चेहरे कमल की तरह खिल उठे हैं। वे उपार्जन केंद्रों पर जाते हैं तोकिसान उन्हें धन्यवाद देते हुए कहते है कि हमारी चिंता करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्रीशिवराज सिंह चौहान का हम आभार मानते हैं और हमारा नेता कैसा हो कमल पटेल जैसा हो।नारेलगाते हुए कहते हैं कि हमें हमारे जीवन में कमल पटेल जैसा ही किसान नेता मिलना चाहिए था।जोकि ईश्वर ने हमको दिया है।

प्रधानमंत्री मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट किसानों की आय को दोगुना करनेका प्रयास मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कृषि मंत्री कमल पटेल कर रहे हैं।सरकार के द्वारा समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीदी होने से प्रदेश के किसानों को 2 गुना से 3 गुनातक उनकी फसलों के दाम मिल रहे हैं।गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के 32 जिलों में ग्रीष्मकालीन मूंगकी फसल की बंपर पैदावार हुई है।सरकार समर्थन मूल्य पर फसल की खरीदी करने के साथप्रतिदिन खरीदी की लिमिट 25 क्विंटल से बढ़ाकर 40 क्विंटल प्रतिदिन कर रही है। जिससेकिसानों में हर्ष व्याप्त है। मंत्री कमल पटेल की छापामार कार्यवाही सोमवार को भी चालू रही।पटेल लगातार अनेकों उपार्जन केंद्रों पर औचक रूप से पहुंचे और व्यवस्थाओं का जायजा लिया।हरदा जिले के सोनखेड़ी में श्री राम वेयर हाउस का निरीक्षण किया एवं किसानो द्वारा लाई गई मूंगकी गुणवत्ता को देख कर उसकी जॉच की। वहीं दूसरी ओर मंत्री पटेल ने ग्राम गाडरापुर में किसानभाई के खेत में सोयाबीन की फसल का अवलोकन किया। किसान के खेत में सोयाबीन की फसलका सूक्ष्म निरीक्षण करने के बाद कृषि मंत्री पटेल ने फसल विशेषज्ञ डॉक्टर के रूप में फसल कीदेखरेख और समय सीमा में आवश्यक सुझाव किसान को दिए।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.