श्री परेश नाथ इलना के पुन: अध्यक्ष बने

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

कोलकाता। भारतीय भाषाई समाचार पत्र संगठन (इलना) की  78वीं वार्षिक आम बैठक में श्री परेश नाथ को पुन: अध्यक्ष निर्वाचित किया गया। सभी सदस्यों ने आम सहमति से उन्हें अध्यक्ष चुना। इस मौके पर उन्होंने कहा कि वे प्रकाशकों की लड़ाई लडऩा चाहते हैं, क्योंकि इलना में प्रकाशकों का हित सर्वोपरि है। श्री परेश नाथ ने कहा कि अखबारों को विज्ञापनों, वेज बोर्ड, कागज की समस्याओं से जूझना होता है। कोलकाता मे आयोजित 78 वीं आम सभा में देश के कोने-कोने से आए 60 से भी ज्यादा सदस्यों ने शिरकत की। इस सभा में पूर्व निर्धारित एजेंडे पर चर्चा के अलावा पदाधिकारियों का चुनाव हुआ। अध्यक्ष श्री परेशनाथ व उपाध्यक्ष श्री विवेक गुप्त ने इलना द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी दी। एजेंडे पर चर्चा के दौरान कोषाध्यक्ष श्री अर्विन डिसूजा ने साल 2018-19 के आय-व्ययों एवं बैलेेंस शीट को सदन के सामने रखा।

अन्य प्रस्तावों में आम सभा ने इलना की शहर में कमेटियां बनाना, दिल्ली में कार्यालय खोलना और इलना की डायरेक्टरी, वेबसाइट पर डाटा अपडेट करने के प्रस्तावों पर भी सहमति दी। वर्ष 2019-20 कार्यकारिणी समिति में सर्वश्री परेश नाथ(सरस सलिल) को अध्यक्ष, विवेक गुप्त(सन्मार्ग) को उपाध्यक्ष, प्रकाश पाहरे (देशोन्नति) को उपाध्यक्ष, नागान्न एस (प्रजा प्रगति) को महासचिव, अर्विन डिसूजा (चंपक मराठी) को कोषाध्यक्ष, अकबर बेलगाम्कर (मंकेश पत्रिका) को संयुक्त सचिव, शरद रामदेव सिच्ची(द. की रौनक) को संयुक्त सचिव, शिव अग्रवाल (डेली राष्ट्रदूत) को महाराष्ट्र राज्य समिति का अध्यक्ष, देवेंद्र सिंह तोमर(साहस समाचार) को दिल्ली राज्य समिति का अध्यक्ष, उदय रवि (प्रतिनिधि डेली) को कर्नाटक राज्य समिति का अध्यक्ष, जी अशोकन (कुदुंबा नोवेल) को तमिलनाडु राज्य समिति का अध्यक्ष, एच.एम शंकर (गृह शोभा कन्नड़) को आयोजन सचिव(दक्षिण), कुरियन अब्राहम (धानम) को केरल राज्य समिति समिति का अध्यक्ष, अरूण भाटिया (जगत क्रांति) को हरियाणा राज्य समिति का अध्यक्ष, सुधी कुमार पांडा (प्रतिदिन) को ओडिशा राज्य समिति का अध्यक्ष चुना गया। इसके साथ ही समिति में इलना के पूर्व अध्यक्ष विजय बोंद्रिया (कृषक जगत), अभिषेक वर्मा (कैनन टाइम्स डेली), संजय गुप्ता (विश्व मंडल), अंकित विश्रोई (विकास कुंज), बाला साहेब अम्बेडकर(जिव्हाला), अशद बाने सेख (जगत भारती), डी शिवलिंगप्पा (कर्नाटक सांध्यकला) को भी सबकी सहमति से समिति में चयनित किया गया।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − fifteen =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।