बेहतर स्वास्थ्य सेवाएँ देकर प्रथम स्थान पर रहा मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री श्री चौहान

Share

10 अगस्त 2022, भोपाल: बेहतर स्वास्थ्य सेवाएँ देकर प्रथम स्थान पर रहा मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री श्री चौहान – मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश स्वास्थ्य के क्षेत्र में हमेशा प्रथम रहे, इसके लिए निरंतर प्रयास किए जाएँ। भारत सरकार द्वारा मध्यप्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को पुरस्कृत करने की उपलब्धि के साथ आवश्यक है कि इस दिशा में निरंतर उत्कृष्ट कार्य होता रहे। मध्यप्रदेश में नागरिकों को अच्छी सेवाएँ देने वाली स्वास्थ्य संस्थाओं को पुरस्कृत करने की योजना अमल में लाई गई है। चिकित्सक ही पीड़ित मानवता की सबसे बड़ी सेवा करते हैं। कोरोना काल में चिकित्सकों और नर्सिंग स्टाफ ने लोगों की अद्भुत सेवा की है। यह समाज का महत्वपूर्ण वर्ग है। श्रेष्ठ कार्य करने वाले चिकित्सक और अन्य कर्मचारी भविष्य में भी पुरस्कृत किए जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुरस्कृत स्वास्थ्य संस्थाओं को बधाई देते हुए इसी भावना से कार्य करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान गत दिवस  यहाँ कुशाभाऊ ठाकरे सभागृह में स्वास्थ्य विभाग के संपूर्ण कायाकल्प अभियान के शुभारंभ और कायाकल्प पुरस्कार वितरण समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सम्पूर्ण कायाकल्प अभियान में आज 66 करोड़ रूपये की राशि प्रदेश की स्वास्थ्य संस्थाओं के प्रभारियों के खातों में ट्रांसफर की। इस राशि से स्वास्थ्य संस्थाओं के बेहतर रख-रखाव और स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप अन्य आवश्यक कार्य करवाए जा सकेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सम्पूर्ण कायाकल्प अभियान में भारत सरकार द्वारा हाल ही में स्वास्थ्य विभाग को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर उत्कृष्ट कार्य करने पर प्रदत्त रनर अप अवार्ड एसीएस स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान और आयुक्त स्वास्थ्य डॉ. सुदाम खाडे़ को सौंपा।

विदिशा जिला अस्पताल को प्रथम पुरस्कार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिन जिला अस्पतालों को स्वास्थ्य सेवाओं के श्रेष्ठ संचालन के लिए कायाकल्प अवार्ड प्रदान किए, उनमें विदिशा जिला अस्पताल को 50 लाख रूपये का प्रथम पुरस्कार, जिला अस्पताल देवास को 20 लाख रूपये का द्वितीय पुरस्कार और जिला अस्पताल सतना को 10 लाख रूपये का तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम में अन्य स्वास्थ्य संस्थाएँ भी पुरस्कृत की गईं। अलग-अलग श्रेणियों में पुरस्कार प्रदान किए गए।

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि कायाकल्प अभियान की शुरूआत वर्ष 2015 में की गई थी। पहले 65 स्वास्थ्य संस्थाएँ पुरस्कृत हुई थीं। तब से लेकर लगातार प्रदेश की स्वास्थ्य संस्थाओं ने कायाकल्प अवार्ड लेने में वृद्धि की है। वर्ष 2021-22 में प्रदेश की 395 स्वास्थ्य संस्थाओं को कायाकल्प अवार्ड दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शासकीय अस्पतालों को अधिक सुविधा सम्पन्न बनाने के लिये सम्पूर्ण कायाकल्प अभियान शुरू किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि स्वास्थ्य संस्थाओं में मिल रही बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में आम आदमी स्वयं कहे कि उसको अब पहले की तुलना में अस्पताल में बेहतर उपचार मिल रहा है।

महत्वपूर्ण खबर:‘ पॉलीसल्फेट उर्वरक का टमाटर में उपयोग ’ विषय पर वेबिनार 10 अगस्त को

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.