पशुपालक केसीसी लिंकेज अभियान में मध्यप्रदेश अग्रणी

Share

41 हजार से अधिक कार्ड बनाए गए

  • (विशेष प्रतिनिधि)

7 फरवरी 2022, भोपाल । पशुपालक केसीसी लिंकेज अभियान में मध्यप्रदेश अग्रणी –

Rk-Mehiya1मध्यप्रदेश में इस अभियान के तहत पात्र पशुपालक, दुग्ध उत्पादक संगठन को किसान के्रडिट कार्ड उपलब्ध कराते हुये पशुपालन की गतिविधि से जोड़ा जा रहा है तथा वह कृषक जो कि पूर्व से केसीसी धारक है उनके केसीसी को भी इस अभियान अंतर्गत पशुपालन गतिविधि से जोडऩे की कार्यवाही की जायेगी।

डॉ. मेहिया के अनुसार पशुपालक के केसीसी लिंकेज होने पर पशुचारा, दाना, बाटा क्रय करने हेतु बैंक शाखा के द्वारा प्रति 15000/- रु. एवं प्रति भैंस 18000/- रु. राशि 3 माह के लिये प्रदाय की जायेगी। पशुपालक 3 माह में जमा करके पुन: राशि आवश्यकता अनुसार प्राप्त कर सकता है। डॉ. मेहिया ने बताया कि अभियान के आवेदन पत्र तैयार करने हेतु कृषक, पशुपालक निकट के पशु चिकित्सा संस्था प्रभारी से संपर्क करके आवेदन पत्र तैयार करवायें। आवेदन पत्र के साथ कृषक को जमीन की खसरा नकल, राशन कार्ड, पेन कार्ड, आधार कार्ड एवं बैंक के केसीसी का खाता क्रमांक उपलब्ध कराना होगा।

गाय, भैंसों में अब बछिया-पड़िया ही पैदा होगी

संचालक पशुपालन ने बताया कि प्रदेश गाय-भैंसों में कृत्रिम गर्भाधान अब सेक्स सोर्टेड सीमन द्वारा गर्भित किया जा रहा है। जिसके फलस्वरूप 90 प्रतिशत बछिया-पडिय़ा ही पैदा होंगी। सेक्स सोर्टेड सीमन का शुल्क सामान्य वर्ग के लिये 450 रुपये तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए 400 रुपये रहेगा। संचालक डॉ. मेहिया के अनुसार गाय में जर्सी, गिर, साहीवाल एवं भैंस में मुर्रा नस्ल का सीमन सभी विकासखण्ड मुख्यालयों में पशु चिकित्सालयों में उपलब्ध है। पशु पालक जो पशु चिकित्सालय एवं पशु औषधालय से 3 कि.मी. की दूरी पर निवास करते हैं वे कॉल करके घर पहुंच सेवा (150 रुपये शुल्क) का लाभ ले सकते हंै। आपने पशुपालकों से आग्रह किया है कि वे सीमन द्वारा अपने गौवंशीय एवं भैंस वंशीय पशुओं के कृत्रिम गर्भाधान करवाकर योजना का लाभ लें।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.