राज्य कृषि समाचार (State News)

अलीराजपुर में मशरूम आय का जरिया ‘केवीके में नवाचार’

Share

16 मई 2023, अलीराजपुर । अलीराजपुर में मशरूम आय का जरिया ‘केवीके में नवाचार’ – कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा जिले के कृषकों और युवाओं को अतिरिक्त आय अर्जन के लिए प्रेरित करने हेतु केवीके परिसर में वैज्ञानिक विधि से मशरूम (सनौती) की खेती कर उत्पादन लिया जा रहा है। केंद्र के प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. आर. के. यादव बताते हैं कि मशरूम (सनौती) की खेती एक लाभदायक व्यवसाय है जिसमें खेत या मिट्टी की आवश्यकता नहीं होती है इसकी खेती घर में या छप्पर का घर बनाकर कर सकते हैं और यह अतिरिक्त आय का जरिया भी है। 

मशरूम का उपयोग विभिन्न व्यंजन जैसे सब्जी, पकोड़े एवं अचार बनाकर इसका सेवन  किया जाता है। मशरूम में बहुत प्रोटीन तत्व पाये जाते हैं जो शरीर के लिए महत्वपूर्ण रहते हैं।  नवाचार के रूप में कृषि विज्ञान केंद्र में पहली बार मशरूम के साथ हाइड्रोपोनिक तकनीकी से हरा चारा उत्पादन भी किया जा रहा है जिसमें मशरूम उत्पादन और हरा चारा हेतु एक साथ पानी का छिडक़ाव  फँवारे से किया जाता है जिससे अतिरिक्त पानी की आवश्यकता नहीं होती है और पानी का बचाव भी होता है। कृषि विज्ञान केंद्र पर मशरूम बिक्री हेतु भी उपलब्ध कराई जाती है।

Share
Advertisements