गृह मंत्री के आतिथ्य में “कृषि विपणन में सहकारी संस्थाओं की भूमिका” पर राष्ट्रीय सम्मेलन

Share
पैक्स से अपेक्स तक मजबूत मार्केटिंग के लिए माडल एक्ट लाएंगे-श्री शाह

23 अगस्त 2022, भोपाल: गृह मंत्री के आतिथ्य में “कृषि विपणन में सहकारी संस्थाओं की भूमिका” पर राष्ट्रीय सम्मेलन – प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के,“सहकार से समृद्धि” के संकल्प को साकार करने के लिए केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह के मुख्य आतिथ्य में आज भोपाल में भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ लिमिटेड (नेफेड) द्वारा “कृषि विपणन में सहकारी संस्थाओं की भूमिका” विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया गया। इसमें केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर व मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान विशेष अतिथि थे। इस अवसर पर श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार प्राथमिक कृषि साख समितियों (पैक्स) को बहुउद्देशीय बना रही है, पैक्स से अपेक्स तक मार्केटिंग की मजबूत व्यवस्था के लिए शीघ्र ही एक माडल एक्ट लाया जाएगा, वहीं कृषि मंत्री श्री तोमर ने कहा कि भारत के संस्कार में सहकार की आत्मा बसती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि म.प्र. में 4,500 पैक्स सामान्य सुविधा केंद्र के रूप में विकसित किए गए हैं।

इस गरिमामय कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री श्री शाह ने कहा कि दलहन-तिलहन को छोड़कर बाकी उत्पादों के मामले में हमारा देश आत्मनिर्भर हो चुका हैं। देश में खाद्यान्न उत्पादन 314 मिलियन मीट्रिक टन से ज्यादा हो चुका है। ई-नाम प्लेटफार्म, जिससे एक हजार मंडियां जुड़ चुकी है, पर करीब पौने दो करोड़ किसान व ढाई लाख व्यापारी पंजीकरण करा चुके हैं और दो लाख करोड़ रु. से ज्यादा का व्यापार हो चुका हैं।

श्री शाह ने कहा कि पैक्स से अपेक्स तक एक मजबूत मार्केटिंग व्यवस्था के लिए नेफेड के साथ – साथ राज्य, जिला व तहसीलों के फेडरेशन को भी मार्केटिंग के साथ जोड़ना होगा, हम पैक्स का माडल एक्ट लेकर आ रहे हैं । इससे हर पैक्स एफपीओ बनने की योग्यता प्राप्त कर लेगा, किसानों की उपज को खरीदकर नेफेड के साथ स्टेट फेडरेशन व देशभर के 63 हजार पैक्स को दे पाएगा, पैक्स भंडारण व परिवहन का काम भी करेगा, कोल्ड स्टोरेज बना पाएंगे व गैस एजेंसी भी ले पाएंगे। इनके माध्यम से किसानों को ज्यादा फायदा होगा, अधिक दाम मिलेंगे,कुल 22 गतिविधियों को पैक्स से जोड़ने का काम मोदी सरकार करने जा रही है। श्री शाह ने कहा कि कार्पोरेट खेती की जगह कोआपरेटिव खेती का चलन बढ़ेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सहकारिता भारत की माटी में है, सबके भीतर है, एक सबके लिए और सब एक के लिए सहकारिता है। सीएम ने बताया कि म.प्र. में सहकारिता क्षेत्र में कई कदम उठाए गए हैं, पैक्स के कम्प्यूटीकरण का काम किया जा रहा है और इनको सामान्य सुविधा केंद्र के रूप में विकसित किया जायेगा । कार्यक्रम में केंद्रीय सहकारिता राज्यमंत्री श्री बी.एल. वर्मा, म.प्र. के कृषि मंत्री श्री कमल पटेल, सहकारिता मंत्री श्री अरविंद सिंह भदौरिया, केंद्रीय सहकारिता सचिव श्री ज्ञानेश कुमार,नेफेड अध्यक्ष डॉ. विजेंद्र सिंह व एमडी श्री राजबीर सिंह, इफको अध्यक्ष श्री दिलीप संघानी, कृभको अध्यक्ष डॉ. चंद्रपाल सिंह भी मौजूद थे।

महत्वपूर्ण खबर: बुरहानपुर में दुकानदार का उर्वरक प्राधिकार पत्र निलंबित

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़ ,  टेलीग्राम )


Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.