किसानों को सम्मेलनों में मिलेगी 1600 करोड़ की राहत राशि

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

प्रधानमंत्री श्री मोदी भी करेंगे संबोधित

17 दिसम्बर 2020, भोपाल। किसानों को सम्मेलनों में मिलेगी 1600 करोड़ की राहत राशि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने18 दिसंबर को राज्य में हो रहे चार स्तरीय किसान कल्याण कार्यक्रम और सम्मेलनों के संबंध में विस्तृत निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कांफ्रेंस द्वारा निर्देश दिए कि कलेक्टर्स इन कार्यक्रमों की पूरी तैयारी युद्ध स्तर पर पूर्ण कर किसानों को सूचना ही पहुंचाने का कार्य करें।राज्यस्तरीय महा सम्मेलन रायसेन में होगा जिसमें मुख्यमंत्री श्री चौहान सम्मिलित होंगे। अन्य सम्मेलन जिला, विकासखंड और ग्राम पंचायत स्तर पर होंगे । किसान सम्मेलनों में खरीफ 2020 में हुए फसलों के नुकसान की राहत राशि किसानों के खातों में अंतरित की जाएगी । इससे करीब 35 लाख 50 हजार किसान लाभान्वित होंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान रायसेन में राज्य स्तरीय मुख्य कार्यक्रम में शामिल होंगे जिसमें लगभग 20 हजार किसान सम्मिलित होंगे ।अन्य जिलों में मंत्री इन कार्यक्रमों में किसानों को राहत राशि का वितरण करेंगे।इसी तरह के कार्यक्रम ब्लॉक और ग्रामीण स्तर पर भी होंगे।

प्रमुख निर्देश

• किसानों को राहत राशि के वितरण के साथ ही पशुपालकों ,मत्स्य पालकों आदि को भी लाभ प्रदान किए जाएं।
• किसान क्रेडिट कार्ड के वितरण का कार्य भी किया जाए।
• कृषि ,ग्रामीण विभाग, राजस्व विभाग विशेष रूप से कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दें।
• अन्य विभाग भी सहयोग करें।
• सीएम ने कहा कार्यक्रम में अधिकतम किसानों को जोड़ने का प्रयास करें।
• सोशल डिस्टेंसिंग और सावधानी रखे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य हो। सभी किसान मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें। आवश्यक सावधानियों के साथ कार्यक्रम संपन्न किए जाएं।

प्रधानमन्त्री श्री मोदी भी संबोधित करेंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान के संबोधन के पश्चात प्रधानमंत्री श्री मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा किसानों को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान के संबोधन के पश्चात प्रधानमंत्री श्री मोदी दोपहर लगभग 2 बजे संबोधित करेंगे।नए कृषि कानूनों के लाभकारी प्रावधानों के संबंध में किसानों को विस्तार से इन सम्मेलनों में जानकारी प्रदान की जाएगी।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।