तीन करोड़ रुपए की यूरिया सप्लाई में गड़बड़ी

Share
सीएम श्री चौहान ने दिए कड़ी करवाई के आदेश कृभको के मार्केटिंग डायरेक्टर समेत चार लोगों पर एफआइआर दर्ज

10 सितम्बर 2022, भोपाल: तीन करोड़ रुपए की यूरिया सप्लाई में गड़बड़ी – मध्य प्रदेश में यूरिया सप्लाई में गड़बड़ी को लेकर सीएम श्री  शिवराज सिंह चौहान सख्त नजर आए .जबलपुर में यूरिया सप्लाई की गड़बड़ियों को लेकर बैठक की। श्री  शिवराज ने कहा, किसानों को खाद ना मिले, यह अपराध है। इस काम में लगी कंपनियों को केवल समझाने से काम नहीं होगा। दोषियों पर तत्काल एफआइआर दर्ज हो। उन्हें गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई की जाए। इधर, बैठक के बाद तत्काल कार्रवाई करते हुए 129 टन यूरिया बरामद कर लिया गया। चार लोगों पर एफआइआर भी दर्ज की गई। मुख्यमंत्री निवास कार्यालय से हुई बैठक में कृषि उत्पादन आयुक्त श्री शैलेंद्र सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री अजीत केसरी, संभागायुक्त जबलपुर श्री बी. चन्द्रशेखर सहित जबलपुर के पुलिस, प्रशासन और मार्कफेड के अधिकारी वर्चुअली शामिल हुए।

ऐसे सामने आया घोटाला:

मध्यप्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ ने 25 अगस्त को क्षेत्रीय प्रबंधक कृभको को रैक के जरिए 2647 टन यूरिया सप्लाई  के लिए आदेश दिया  था। आदेश  अनुसार  70% यानी 1853 टन यूरिया विपणन संघ तो 30% निजी क्षेत्र को दिया जाना है। जबलपुर के कछपुरा माल गोदाम में लगने वाले इस रैक से जबलपुर सहित संभाग के मंडला, डिंडौरी, सिवनी और दमोह में यूरिया की आपूर्ति होनी थी। एक हजार टन यूरिया तो डबल लॉक पहुंचा, लेकिन 1020 टन रास्ते में गायब कर दिया गया। जब शिकायतें पहुंची तो जांच शुरू हुई।

एफ.आई.आर.

सीएम की फटकार के बाद कृषि विभाग के अफसरों ने गायब 1020 टन यूरिया में से 129 टन यूरिया जबलपुर के दो वेयर हाउस से बरामद कर लिया। कृषि विभाग एवं जिला विपणन संघ के अधिकारियों ने जांच में कृभको श्याम कंपनी के दो गोदामों से यूरिया बरामद किया। वितरण घोटाले में कृभको के मार्केटिंग डायरेक्टर राजेन्द्र चौधरी, ट्रांसपोर्टर डीपीएमके फर्टिलाइजर द्वारिका गुप्ता और रैक हैंडलर स्टेट मैनेजर जयप्रकाश सिंह सहित अन्य के खिलाफ लार्डगंज थाने में प्रकरण दर्ज कराया है। यूरिया की कीमत तीन करोड़ रुपए बताई जा रही है। शिकायत जिला विपणन अधिकारी रोहित सिंह बघेल ने की थी।

कृषि विभाग की  कार्यवाही

यूरिया वितरण में अनियमितता के मामले में कृषि विभाग एवं विपणन संघ के अधिकारियों ने पाटन तहसील के ग्राम आरछा बेनीखेड़ा स्थित गायत्री वेयरहाउस का निरीक्षण किया । उप संचालक कृषि  जबलपुर डॉ एस के निगम के अनुसार निरीक्षण के दौरान इस वेयरहाउस में लगभग 80 मैट्रिक टन कृभको श्याम कंपनी का यूरिया मिला, जिसे किसान हित में मंडला एवं डिंडोरी जिले में स्थित विपणन संघ के डबल लॉक केंद्र में भेजने के निर्देश सयुंक्त संचालक कृषि जबलपुर संभाग द्वारा दिये गये । वेयरहाउस के निरीक्षण के दौरान कृषि विभाग के सयुंक्त संचालक के एस नेताम, उपसंचालक डॉ एस के निगम एवं जिला विपणन अधिकारी रोहित सिंह बघेल भी मौजूद थे इसी क्रम में उप संचालक डॉ निगम ने बताया कि यूरिया वितरण में अनियमितता के मामले में खजरी खिरिया स्थित लक्ष्मी वेयर हाउस का निरीक्षण भी किया गया । यहाँ भी कृभको श्याम कम्पनी का करीब 49 मैट्रिक टन यूरिया पाया गया । इस यूरिया को दमोह जिले के डबल लॉक केंद्रों में भेजा जा रहा है ।

हमारे किसानों को खाद से वंचित करने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा। जिस समय खाद की आवश्यकता है, उस समय ऐसा होना गंभीर अपराध है। पूरे प्रदेश में कहीं भी किसानों को खाद की दिक्कत नहीं होनी चाहिए। केन्द्र सरकार से समन्वय कर राज्य के लिए पर्याप्त आवंटन सुनिश्चित किया गया है।

-शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्रीमध्यप्रदेश

महत्वपूर्ण खबर: नया कीटनाशक वायेगो लॉन्च

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.