इंदौर सहकारी दुग्ध संघ की डिजिटल वार्षिक साधारण सभा संपन्न

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

01 सितंबर 2020, इंदौर। इंदौर सहकारी दुग्ध संघ की डिजिटल वार्षिक साधारण सभा संपन्नइंदौर सहकारी दुग्ध संघ की सैंतीसवीं वार्षिक साधारण सभा डिजिटल तकनीक से जाल सभागृह, नाथ मंदिर रोड़ ,इन्दौर पर गत दिनों आयोजित की गई, जो इन्दौर से संभागीय कार्यक्षेत्रों के जिलों एवं तहसील मुख्यालयों सहित 14 स्थानों पर ‘सिस्को वेबेक्स मिटिंग एप्लिकेशन ‘ के माध्यम से हुई। इसमें लगभग 819 संघ प्रतिनिधियों ने भाग लिया। वार्षिक साधारण सभा की अध्यक्षता दुग्ध संघ के अध्यक्ष श्री मोतीसिंह पटेल ने की ।

महत्वपूर्ण खबर : लोकप्रिय हो रही फसल काटने की बहुउपयोगी मशीन

दुग्ध संघ के अध्यक्ष श्री मोतीसिंह पटेल ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि दुग्ध संघ का वर्ष 2019-20 का टर्न ओवर 559.81 करोड़ रूपये रहा हैं। वित्तीय वर्ष 2020-21 में वार्षिक कार्ययोजना अनुसार टर्न ओवर 734.88 करोड़ रूपये होना संभावित हैं। दुग्ध संघ द्वारा वर्ष 2019-20 में 16.41 करोड़ रूपये का लाभ एवं दुग्ध समितियों द्वारा 918.55 लाख रूपये का लाभ अर्जित किया, जो संघ की प्रगति का परिचायक है।
संचालक मण्डल द्वारा तीन नवीन योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी आम सभा में सदस्यों को देते हुए बताया गया कि मेधावी छात्र/छात्रा पुरूस्कार योजना अंतर्गत कार्यरत दुग्ध समितियों के सदस्य के पुत्र/ पुत्रियों जिन्होंने कक्षा 10वीं एवं 12वी की परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर पुरूस्कार एक हजार रूपये निर्धारित की गई हैं। यह राशि 50 प्रतिशत दुग्ध समिति एवं 50 प्रतिशत इन्दौर दुग्ध संघ द्वारा वहन की जायेगी। अनुग्रह राशि योजना अंतर्गत दुग्ध उत्पादक सदस्य की मृत्यु होने पर प्रति सदस्य अनुसार भुगतान किया जाता है।

इसी तरह बछिया पालन योजना में प्रति वर्ष प्रथम ‘आवे एवं प्रथम पावे’ के तर्ज पर प्रोत्साहन हेतु एक हजार बछियों के लिए 5 हजार रूपये प्रति बछिया अनुसार संचालक मण्डल द्वारा राशि 50 लाख रूपये का प्रावधान किया गया है , जो कि बछिया पैदा होने के उपरान्त एक माह की अवधि में बछिया को नियमानुसार पंजीकृत किये जाने के पश्चात 30 माह (ढाई वर्ष) की आयु पूर्ण होने के पूर्व जनने पर पशुपालक को संघ द्वारा दूध समिति के माध्यम से 5 हजार रूपये भुगतान की जायेगी।

श्री तंवरसिंह चौहान, श्री रामेश्वर गुर्जर, श्री विक्रम मुकाती संचालक इन्दौर दुग्ध संघ एवं श्री घनश्याम पाटिल पूर्व संचालक ने दुग्ध क्रय भाव में वृद्धि हेतु प्रस्ताव रखा . श्री चौहान द्वारा अन्य राज्यों के अनुरूप म.प्र. शासन को दूध के भाव में 5 रूपये प्रति लीटर अनुदान देने का प्रस्ताव रखा गया। श्री उमरावसिंह मौर्य, पूर्व अध्यक्ष इंदौर ने दुग्ध संघ द्वारा दुग्ध क्रय दर एवं तरल दुग्ध विक्रय में वृद्धि करने का सुझाव दिया ,साथ ही उन्होंने दुग्ध संघ द्वारा संचालित साँची बीमारी सहायता योजना, कर्मचारी एवं सदस्य मृत्यु सहायता योजना की प्रशंसा की गई। श्री एस.सी. माण्डगे, पूर्व अध्यक्ष, एमपीसीडीएफ, भोपाल एवं एन.सी.डी.एफ.आई, दिल्ली ने सुझाव दिया कि एमपीसीडीएफ, भोपाल द्वारा दुग्ध संघों से विकय राशि पर कमीशन लिया जाता है, उससे डिजिटल तकनीक के माध्यम से दुग्ध एवं दुग्ध पदार्थो का निजी टेलीविजन चैनलों के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जाए. उक्त निर्णय मेरे कार्यकाल में लिया गया था, जिसका पालन अब तक नही हुआ है।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 + 20 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।