राज्य कृषि समाचार (State News)

राजस्थान में सहकारी समितियों में डीएपी खाद और बीज की किल्लत

Share

किसान महंगे दामों में खरीदने पर मजबूर

5 नवम्बर 2022, दूदूराजस्थान में सहकारी समितियों में डीएपी खाद और बीज की किल्लत – केंद्र और राज्य सरकार किसानों को ग्राम सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से सरकारी रेट पर डीएपी खाद और चना,सरसों का अनुदानित बीज उपलब्ध के दावों की पोल खुलती नजर आ रही है। दूदू क्षेत्र की 25 में से अधिकांश ग्राम सेवा सहकारी समितियों में न तो डीएपी खाद और अनुदानित चने का बीज नहीं मिलने से किसानों को निजी दुकादरों से महंगे दामों ओर खरीद करनी पड़ रही है।

किसान बन्ना राम चौधरी,अजय सिंह चौधरी ने बताया कि दूदू की मौजमाबाद, लोरडी, बिहारीपुरा, सांवली, झाग,रहलाना,जीएसएस में खाद नहीं मिलने से कई गांवों में किसानों को बिना डीएपी खाद के सरसों ओर चने की फसल की बिजाई करनी पड़ रही है। रिएक्टिव मानसून की बारिश के बाद बुवाई का रकबा बढऩे से किसानों के सामने दोहरा संकट खड़ा हो गया है।

लोरडी जीएसएस उपाध्यक्ष रामचंद्र बुरी ने बताया कि डीएपी खाद और अनुदानित बीज के लिए कृषि विभाग और राजफेड अफसरों को कई बार पत्र लिख चुके हैं। किसानों की मांग के मुकाबले खाद और बीज की मात्रा कम भेजने से परेशनी खड़ी हो रही है।

अनुदानित बीज आया था किसानों को बांट दिया

लोरडी जीएसएस अध्यक्ष रमाकांत शर्मा ने बताया कि मेरे पास कम मात्रा में चने का अनुदानित बीज आया था। डीएपी का भी वितरण हो चुका है। मांग के अनुसार सप्लाई नहीं मिल रही है।

महत्वपूर्ण खबर: शहरी परिवर्तन की एक सशक्त मिसाल ‘कोटा मॉडल’ : मुख्यमंत्री गहलोत

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *