राज्य कृषि समाचार (State News)किसानों की सफलता की कहानी (Farmer Success Story)

राजस्थान के किसानों के लिए वरदान साबित हुई फसल सुरक्षा मिशन योजना

Share

22 अप्रैल 2023, डूंगरपुर राजस्थान के किसानों के लिए वरदान साबित हुई फसल सुरक्षा मिशन योजना – राज्य सरकार द्वारा फसल सुरक्षा मिशन योजना के तहत खेतों में पशुओं एवं जंगली जानवरों के आतंक और उसके बचाव का उपाय तारबंदी, अब जिले के कृषकों को रास आने लगा है। खेतों में तारबंदी करने का मुख्य उदेश्य किसानों की खड़ी फसलों को पशुओं और जंगली जानवरों से बचाया जा सके तथा इस योजना का लाभ डंूगरपुर जिले के किसान भी भरपूर उठा रहे हैं।

डूंगरपुर जिले कीे लाभार्थी कृषक श्रीमती फुलकी देवी पत्नी हीरालाल डामोर सेंगाल महुड़ी, ग्राम पंचायत झिझवा,पंचायत समिति बिछीवाड़ा ने बताया कि हमारे अधिकांश खेत पहाड़ी और सडक़ के आस-पास होंने के कारण खेतों में लावारिस पशु व जंगली जानवर  खेतो की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा देते थे, जिसके कारण हमारे साल भर की मेहनत पर पानी फिर जाता था। वहीं, लावारिस और जंगली जानवरों को खेतों में आने से रोकने के लिए हमें रात्रि के समय में भी  खेतों में रहकर फसलों की निगरानी का कार्य करना पड़ता था। ऐसी विकट परीस्थिति में कृषि पर्यवेक्षक निरमा डोडियार ने सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं में से तारबंदी योजना के बारे में जानकारी दी तो मैंने भी इस तारबंदी योजना का लाभ प्राप्त करने के लिये आवेदन किया और मुझे इस योजना में लाभ प्राप्त हुआ हैं।

कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक श्री गौरीशंकर कटारा ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से किसानों के लिए तारबंदी योजना की शुरूआत की थी, इसका मुख्य उद्देश्य किसानों के खेतो में खडी फसलो को पशुओं और जंगली जानवरों से बचाया जा सके। इस योजना में डंूगरपुर का लाभ डंूगरपुर के किसानो ने भरपूर लाभ उठाया। जिले में तारबंदी योजना के लक्ष्य  को पूर्ण किया। डंूगरपुर जिले में तारबंदी 65.41 प्रतिशत का लक्ष्य पूरा किया। जिले में 234 किसानो को 93 हजार 600 मीटर तारबंदी का लक्ष्य दिया था, इसके विरूद्ध 206 किसानो ने 61 हजार 224.68 मीटर तारबदी कर योजना का लाभ उठाया।

महत्वपूर्ण खबर: राजस्थान में किसानों को सोलर पंप पर 60 प्रतिशत तक का अनुदान

Share
Advertisements