फसल बीमा: अंतिम तिथि बढ़ने की संभावना, कृषि मंत्री कमल पटेल ने केंद्र में की बात

Share

17 अगस्त 2021, भोपाल: मध्य प्रदेश में खरीफ फसल बीमा कराने की अंतिम तिथि बढ़ सकती है। कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर से मांग की है कि म.प्र. में खरीफ सीजन के फसल बीमा की अंतिम तिथि 16 अगस्त से बढ़ाकर 31 अगस्त की जाये । श्री कमल पटेल ने बताया कि प्रदेश में वर्षा, बाढ़  के कारण कई छोटे व डिफाल्टर किसान फसल बीमा से वंचित रह गए हैं और उन्हें फसल बीमा का लाभ नहीं मिल पायेगा। प्रदेश के किसानों के हित में फसल बीमा की अंतिम तिथि‌‌‌ बढ़ाने के लिए राज्य सरकार ने केन्द्र से अनुरोध किया है। 

राज्य की ओर से एक प्रस्ताव भी केन्द्रीय कृषि मंत्रालय को भेजा गया है। एक व्यवस्था के तहत ऋणी किसानों के फसल बीमा के प्रीमियम की राशि पहले ही उनके खातों से सीधे तौर पर जमा कर ली जाती है जबकि अऋणी और डिफाल्टर किसानों को पंजीयन  करा कर तयशुदा अंतिम तिथि पर इसे जमा करना होता है।

दरअसल प्रधानमंत्री फसल बीमा वर्ष 2021-22 हेतु कृषकों के पंजीयन की अंतिम तिथि 16 अगस्त 2021 भारत सरकार द्वारा नियत की गई थी किंतु उक्त तिथि तक  लाभगग 25 लाख ऋणी किसानों द्वारा फसल बीमा में पंजियन करवाया गया है।  जबकि गत वर्ष लगभग 45 लाख किसानों द्वारा खरीफ़ 2020 का फसल बीमा करवाया गया था इससे स्पष्ट होता है कि अऋणी और डिफाल्टर किसान फसल बीमा से वंचित है।  संचालक किसान कल्याण, तथा कृषि विकास विभाग द्वारा बीमा कंपनियों की सहमति के साथ केंद्रीय कृषि मंत्रालय को एक पत्र इस संबंध में लिखा गया है। 

उल्लेखनीय होगा कि कृषि मंत्री  द्वारा कुछ दिनों पूर्व किसानों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में प्रधानमंत्री फसल बीमा में पंजियन करवाने की अपील भी की गई थी और कंडिका वार सुझाव भी किसानों को लिखित में दिए थे जिससे पंजियन में परेशानी ना आये।

महत्वपूर्ण सूचना: सोयाबीन में कीट प्रबंधन

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.