राजर्षि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह हुआ

Share

31 मार्च 2022, जयपुर ।  राजर्षि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह हुआ कुलाधिपति एवं राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने कहा है कि शिक्षा का तात्पर्य विद्यार्थी का सर्वांगीण विकास है जिसमें विद्यार्थी राष्ट्र एवं समाज के निर्माण में अपनी महती भूमिका निर्वहन करते हैं।

राज्यपाल श्री मिश्र सोमवार को अलवर के प्रताप ऑडिटोरियम में आयोजित राजर्षि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय के तृतीय दीक्षांत समारोह में सम्बोधित कर रहे थे। राज्यपाल ने प्रसन्नता व्यक्त की कि विश्वविद्यालय में श्रेष्ठ अकादमिक प्रदर्शन करने में बेटियां अग्रणी हैं। आज के इस दीक्षान्त समारोह में 34 स्वर्ण पदकों में से 27 स्वर्ण पदक, 1 कुलाधिपति पदक तथा सभी 4 रजत पदक यहां अध्ययन करने वाली बेटियों ने प्राप्त किये है। उन्होंने बेटियों को बधाई देते हुए कहा कि इतने पदक लड़कियों को मिलने का अर्थ है, बेटियों को यदि अवसर मिले तो वे आकाश छू सकती हैं। मैं यह मानता हूं कि एक बेटी किसी परिवार में पढ़ लेती है तो दो परिवारों का उत्थान करती हैं। मैं चाहता हूं वे आगे बढ़ें और निरंतर जीवन में उत्कर्ष के शिखरों को छूएं।

राजर्षि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जे.पी यादव ने मत्स्य विश्वविद्यालय का प्रतिवेदन प्रस्तुत कर अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय के भवन निर्माण मालाखेडा तहसील के ग्राम हल्दिना में 123 एकड़ भूमि पर लगभग तैयार होने की स्थिति में है।

राज्यपाल ने सत्र 2019-20 के लिए शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु हिना शर्मा (वाणिज्य) को चांसलर मेडल तथा 34 छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक एवं 4 छात्राओं को रजत पदक देकर सम्मानित किया।

इस अवसर पर जिला प्रमुख श्री बलबीर सिंह छिल्लर, कुलसचिव श्री रोहिताश यादव सहित प्रशासनिक अधिकारी, विश्वविद्यालय के सभी डीन, निदेशक गण, प्रबन्ध मण्डल के सदस्यगण एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.