मध्यप्रदेश में इजरायल के सहयोग से बनेंगे कृषि उत्कृष्टता केंद्र

Share

4 मार्च 2022, भोपाल । मध्यप्रदेश में इजरायल के सहयोग से बनेंगे कृषि उत्कृष्टता केंद्र मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से इज़राइल के काउंसलेट जनरल श्री कोबी शोशानी ने मध्यप्रदेश प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री निवास पर सौजन्य भेंट की। काउंसलेट जनरल श्री शोशानी ने मध्यप्रदेश में कृषि क्षेत्र में हुए विकास की सराहना की। उन्होंने कृषि सहित सिंचाई, उद्योग, व्यापार-वाणिज्य क्षेत्रों में इजराइल द्वारा पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया। वर्तमान में प्रदेश में मालनपुर और मंडीदीप में इजराइल की कंपनियों के कुछ प्रतिष्ठान कार्यरत हैं। मुख्यमंत्री को श्री शोशानी ने बताया कि इजराइल का भारत में 29 कृषि उत्कृष्टता केन्द्रों में से दो केन्द्र मध्यप्रदेश में स्थापित करने का प्रस्ताव है। इसमें छिंदवाड़ा में संतरा उत्पादन और मुरैना में सब्जी उत्पादन को बढ़ावा दिया जाएगा। इजराइल में एक पखवाड़े के विशेष पाठ्यक्रम में मध्यप्रदेश के कृषि और उद्यानिकी विभाग के अधिकारी लाभान्वित किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इजराइल के सहयोग से मध्यप्रदेश इन क्षेत्रों में बेहतर कार्य के लिए तैयार है। इजरायल द्वारा प्राप्त सुझाव पर भी विचार कर अमल किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इजराइल द्वारा प्रदेश के 2 जिलों छिंदवाड़ा और मुरैना में संतरे एवं सब्जी उत्पादन के प्रकल्प से जुड़ने की पहल की प्रशंसा की। सिंचाई क्षेत्र में भारत और इजराइल द्वारा मध्यप्रदेश के बुंदेलखंड अंचल में जल परियोजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। विशेष रूप से दोनों देश जल प्रबंधन के अन्य संभावित क्षेत्रों में सहयोग के लिए तत्पर हैं। मध्यप्रदेश में औद्यागिक निवेश की संभावनाओं को भी इजराइली कम्पनियों के सहयोग से बढ़ावा दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि केन-बेतवा परियोजना के क्रियान्वयन से बुंदेलखंड क्षेत्र का कायाकल्प होगा। प्रधानमंत्री श्री मोदी के “पर ड्रॉप मोर क्रॉप” के सिद्धांत और इजरायल की कृषि शैली से मध्यप्रदेश प्रेरित है।

पर्यटन क्षेत्र को देंगे बढ़ावा

इजराइल के काउंसलेट जनरल ने कहा कि यह वर्ष भारत और इजराइल के 30 वर्ष के मधुर संबंधों के उत्सव का वर्ष है। इजराइल से अधिक संख्या में पर्यटक मध्यप्रदेश आएँ, इसके प्रयास होंगे। मध्यप्रदेश के पर्यटन स्थलों में वह आकर्षण है जो पूरे विश्व के पर्यटकों को यहाँ खींच सकता है।भेंट के दौरान मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री मनीष रस्तोगी और प्रमुख सचिव औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन श्री संजय कुमार शुक्ला उपस्थित थे।

महत्वपूर्ण खबर: यूपीएल खाद्य तेल के आयात को कम करने के लिए पीएम मोदी के आह्वान का स्वागत करता है

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.