कृषि विश्वविद्यालय आपके द्वार :कृषि शिक्षा एंव कृषि तकनीकी जागरुकता अभियान

Share

29 दिसंबर 2021, रायपुर । कृषि विश्वविद्यालय आपके द्वार :कृषि शिक्षा एंव कृषि तकनीकी जागरुकता अभियान – इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के कुलपति डाॅ एस.एस. सेंगर के कुशल नेतृत्व एंव मार्गदर्शन में कृषि महाविद्यालय, रायपुर द्वारा पांच दिवसीय ‘‘कृषि विश्वविद्यालय आपके द्वार’’ के  अंतर्गत कृषि शिक्षा एंव कृषि तकनीकी जागरुकता अभियान 24 से 28 दिसम्बर 2021 तक आयोजित किया गया। इस अभियान का समापन कृषि महाविद्यालय, रायपुर तथा कृषि विज्ञान केन्द्र के संयुक्त तत्वावधान में स्वामी विवेकानन्द सभागार में दिनांक 28.12.2021 को संपन्न हुआ। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के कुलपति डाॅ. एस.एस.सेंगर ने मुख्य अतिथि के रुप में अपना उदगार व्यक्त करते हुए कहा कि कृषि शिक्षा एंव कृषि तकनीक की जानकारियंा जन-जन तक पहुंचाने हेतु कृषि विश्वविद्यालय आपके द्वार कार्यक्रम का पंाच दिवसीय आयोजन विश्वविद्यालय द्वारा छत्तीसगढ़ के सभी जिलो मे आयोजित किया गया। उन्होने इस बात पर बल दिया कि मेघावी छात्र छात्राएं कृषि शिक्षा को अपनाए इस क्षेत्र में रोजगार एवं आय के असीम संभावनाएं है।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में कार्यक्रम समन्वयक एवं प्रमुख वैज्ञानिक डा कृष्ण कुमार साहू द्वारा स्वागत भाषण देते हुए कहा कि इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर द्वारा चलाए जा रहे “ कृषि  विश्वविद्यालय आपके द्वार” अभियान की उद्देश्य एवं महत्ता की चर्चा की। उन्होंने कहा कि कृषि महाविद्यालय रायपुर द्वारा रायपुर जिला के विभिन्न विद्यालयों में यह कार्यक्रम चलाया गया।

 कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए धरसींवा विधान सभा की विधायक श्रीमती अनिता योगेन्द्र शर्मा ने विश्वविद्यालय की अभिनव पहल की सराहना करते हुए कहा कि यह कार्यक्रम प्रदेश के सभी विद्यालयों में चलाया जाए इससे राज्य के छात्रो में कृषि शिक्षा के प्रति रुझान उत्पन्न होगी एंव आने वाले समय मे कृषि विकास के क्षेत्र में देश एंव विश्व स्तर पर राज्य की पहचान स्थापित हो सकेगी। उन्होने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा नरवा, गरुवा, घुरवा एवं बाड़ी कार्यक्रम के तहत गोठान में महिला स्वसहायता समुहो द्वारा काफी सराहनीय कार्य किया जा रहा है। उन्होने ग्राम पिरदा के चार वर्षीय बालिका भूमि चैहान की प्रतिभा की भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए उसके उज्वल भविष्य की कामना की। उन्होंने जानकारी दी कि ग्राम भरूआडीह (कला) खरोरा के पूर्व माध्यमिक शाला में प्रधानपाठक श्री दिनेश वर्मा एवं उनके एक सहायोगी शिक्षक के प्रयास से स्कूल प्रांगण को एक उत्तम गार्डन के साथ-साथ पोषण वाटिका का सफल संचालन किया जा रहा है। यह कार्य अन्य विद्यालयों के लिए एक आदर्श है। इस अवसर पर कृषि प्रदर्शनी में मशरूम उत्पादन, सुगंधित चावल, जैविक हल्दी अन्य कृषि उत्पादों एवं पाॅली बैग में सब्जी उत्पादन का विशेष रूप से प्रदर्शन किया गया। जिसका अतिथियों द्वारा अवलोकन एवं प्रशंसा की गई।

 विशिष्ट अतिथि अधिष्ठाता डाॅ. एम.पी.ठाकुर ने कृषि शिक्षा के प्रति राज्य के छात्रों में बढ़ते रूझान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर रायपुर जिला के विभिन्न विद्यालयों महाविद्यालयों के छात्र-छात्रायें, विशेष रूप से भरत देवांगन, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, खरोरा के 50 से अधिक छात्र-छात्राएं, खरोरा किसान तथा अखिल भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद छत्तीसगढ़ के रायपुर जिला ईकाइ के द्वारा कमल विहार सेक्टर 13 जय श्रीराम चैक में विगत आॅठ माह से आयोजित की जा रही निःशुल्क प्रशिक्षण लेने वाले शहर के लगभग 60 छात्रों, 40 से अधिक महिला कृषकों, कृषि विज्ञान केन्द्र, रायपुर के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डाॅ. एस.एस. चन्द्रवंशी, सेवानिवृत्त सूबेदार श्री गजमोहन साहु, नायक श्री पन्नालाल सिन्हा, श्री जयंत साहू, गणमान्य नागरिक तथा विभागों के विभागाध्यक्ष, प्राध्यापक/वैज्ञानिक/अधिकारी/कर्मचारी एवं छात्र-छात्रायें तथा उपस्थित रहे। धन्यवाद प्रस्ताव डा. पी.एल. जाॅनसन कार्यक्रम अधिकारी(बालक), राष्ट्रीय सेवा योजना ने दिया तथा कार्यक्रम का संचालन डा. सुबुही निषाद कार्यक्रम अधिकारी (बालिका) ने किया।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.