राज्य कृषि समाचार (State News)

हरदा जिलों के किसानों को खरीफ फसलों के लिये सलाह

Share

14 जून 2024, हरदा: हरदा जिलों के किसानों को खरीफ फसलों के लिये सलाह – दलहन विकास निदेशालय भारत सरकार, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय कृषि एवं किसान कल्याण विभाग भोपाल द्वारा खरीफ फसलों के लिये जून माह हेतु किसानों के लिये सलाह जारी की गई है।

हरदा के उपसंचालक कृषि श्री संजय यादव ने बताया कि सोयाबीन फसल के लिये किसान भाई क्षेत्र के अनुसार उपयुक्त किस्मे जैसे, आरवीएसएम-1135, जेएस-2098, जेएस-2172, आरवीएस-24, एनआरसी-138, एनआरसी-152  इत्यादि का चयन कर, बीज की उपलब्धता सुनिश्चित करें। बुआई के पूर्व बीजोपचार अवश्य करें। सबसे पहले फफूंदनाशी थायरम+कार्बेन्डाजिम (2ः1) 3 ग्राम प्रति किग्रा तथा उसके बाद पीला मोजेक रोग की रोकथाम के लिये कीटनाशक थायोमिथाक्सम 30 एफ.एस. 10 मि.ली. प्रति किग्रा बीज या इमिडाक्लोप्रिड 48 एफ.एस. 1.2 मि.ली. प्रति किग्रा बीज) तथा अंत में कल्चर राइजोबियम 5-7 ग्रा. प्रति किग्रा एवं पी.सी.बी. 5-7 ग्रा. प्रति किग्रा बीज से उपचारित करे। मक्का फसल के लिये खरीफ में मक्का की बुआई जून के अंतिम सप्ताह से जुलाई  के प्रथम पखवाड़े तक मानसून की स्थिति के अनुसार करें।

जिन स्थानों पर जल भराव की स्थिति रहती है, उन स्थानों पर फसल की मेड़ों पर बोया जाना चाहिए। सामान्यतः मक्का फसल को लाइन से लाइन की दूरी 60-75 से.मी. व पौधे से पौधे की दूरी 20-25 से.मी. रखना चाहिए। स्वीट कॉर्न के साथ अरहर 2ः1 अंतर्वर्ती फसल लाभप्रद होती है। किसानों को मौसम आधारित विशेष सलाह दी गई है कि आवश्यक आदान जैसे उर्वरक, खरपतवार नाशक, फफूंदनाशक, कीटनाशक, आदि का क्रय कर उपलब्धता सुनिश्चित करें। किसान भाई डी.ए.पी. उर्वरक के स्थान पर एन.पी.के. 12ः32ः16 का प्रयोग करें।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements