राज्य कृषि समाचार (State News)

दमोह में इस वर्ष उत्पादकता में वृद्धि को लेकर बैठक आयोजित

Share

12 जून 2024, दमोह: दमोह में इस वर्ष उत्पादकता में वृद्धि को लेकर बैठक आयोजित – दमोह जिले में कृषि के क्षेत्र में काम कर रहे एनजीओ (NGO), एफपीसी, एफपीओ प्रगतिशील कृषक एवं सहयोगी विभाग आत्मा परियोजना, कृषि विज्ञान केन्द्र, कृषि अभियांत्रिकी, आजीविका मिशन के संयुक्त तत्वावधान में खरीफ फसल वर्ष 2024-25 की उत्पादकता में वृद्धि के संबंध में कलेक्टर सुधीर कुमार कोचर की अध्यक्षता में कृषि अधिकारियों की एक बैठक कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में नीति आयोग आईटीसी मिशन सुनहरा कल टीम को कलेक्टर श्री कोचर ने कृषि एवं जल संसाधन थीम के अंतर्गत जिला रैंक सुधार एवं कृषक प्रशिक्षण सह नरवाई प्रबंधन के लिए जिले में उन्नत कार्यो हेतु प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

उपसंचालक कृषि  श्री जितेन्द्र सिंह राजपूत ने बताया कि नीति आयोग आकांक्षी जिला अंतर्गत दमोह जिले में कार्यरत एनजीओ  पार्टनर, एफपीसी एण्ड एफपीओ ने जिले में अपने क्रियान्वित गतिविधियों एवं विषयगत कार्यो को बैठक में प्रदर्शित किया गया और खरीफ फसलों  की उत्पादकता में वृद्धि के लिए सुझाव रखे गये। इस दौरान अधिकारियों व एनजीओ  पार्टनर, एफपीसी एण्ड एफपीओ एवं जिले के प्रगतिशील किसानो को डी.एस.आर. पद्धति से धान की बुवाई कर आने वाले सीजन में किस प्रकार बेहतर उत्पादन कैसे लिया जाये इसके बारे में बताया गया। बैठक में बताया गया एम.पी. किसान एप के माध्यम से किसानों का पंजीयन करने के साथ आगामी योजनाओं का लाभ एमपी. किसान ऐप पंजीकृत किसानों को दिया जाये।

परियोजना संचालक आत्मा  श्री एम.के.प्रजापति ने खेती के साथ-साथ आजीविका को बेहतर बनाने के लिए पशु पालन, मछली पालन, उद्यानिकी, मुर्गी पालन आदि के लिए उचित सुझाव दिए। के.वी .के. प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. एम.के.अहिरवार ने प्राकृतिक खेती, फसल विविधीकरण, नई-नई कृषि तकनीकी एवं बेहतर उपज के लिए सभी एनजीओ  पार्टनर, एफपीसी एण्ड एफपीओ एवं जिले के प्रगति किसानो को मार्गदर्शित किया। सहायक संचालक कृषि श्री जे.एल. प्रजापति ने एक जिला एक उत्पाद के अंतर्गत चना दाल के जी.आई. टेग के लिए आवश्यक प्रयास एवं प्रक्रिया के बारे में बताया। उन्होंने कृषि अभियांत्रिकी से मिनी दाल मिल सब्सिडी में लाभ लेकर जिले में उत्पादित चना मूंग एवं  उड़द  की प्रोसेसिंग कर दाल बनाकर बेहतर दाम मिलने के संबंध में जानकारी दी।

कार्यक्रम में कृषि विभाग के समस्त अधिकारीगण,  कृषि विज्ञान केंद्र, कृषि अभियांत्रिकी, आजीविका मिशन, नीति आयोग आईटीसी मिशन सुनहरा कल, प्रदान, वाटर एड, वाटर, मानव जीवन विकास संस्था समिति, हरितिका, मंथन, जल संजीवनी, अर्पण सेवा संस्था, कोर्टेवा आदि एन.जी.ओ. पार्टनर, एफ.पी.सी. एण्ड एफ.पी.ओ. प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements