इथेनॉल के साथ मिट्टी का पूर्व-उपचार गेहूं और चावल को सूखे से बचाने में मदद कर सकता है

Share

13 सितम्बर 2022, नई दिल्ली: इथेनॉल के साथ मिट्टी का पूर्व-उपचार गेहूं और चावल को सूखे से बचाने में मदद कर सकता है – जापान में किए गए एक नए अध्ययन में पाया गया है कि इथेनॉल सूखे के समय पौधों को जीवित रहने में मदद कर सकता है। रिकेन सेंटर फॉर सस्टेनेबल रिसोर्स साइंस के शोधकर्ता बताते हैं कि मिट्टी में इथेनॉल मिलाने से चावल और गेहूं के पौधे दो सप्ताह बिना पानी के रहे और बढ़ावत में काम नहीं आई।

चूंकि इथेनॉल सुरक्षित, सस्ता और व्यापक रूप से उपलब्ध है, इसलिए यह खोज पूरी दुनिया में खाद्य उत्पादन बढ़ाने का एक व्यवहार्य तरीका प्रदान करती है।

इस परिकल्पना का परीक्षण करने के लिए, उन्होंने लगभग दो सप्ताह तक पर्याप्त पानी के साथ पौधे उगाए। फिर, उन्होंने तीन दिनों तक मिट्टी को इथेनॉल से उपचारित किया, उसके बाद दो सप्ताह तक पानी की कमी की। इथेनॉल से उपचारित गेहूं और चावल के लगभग 75% पौधे पुन: पानी देने के बाद बच गए, जबकि 5% से कम अनुपचारित पौधे बचे।

वैज्ञानिकों ने पाया कि आम फसलों जैसे गेहूं और चावल को इथेनॉल से उपचारित करने से सूखे के दौरान फसल उत्पादन में वृद्धि हो सकती है। यह हमें आनुवंशिक संशोधन की आवश्यकता के बिना, पानी सीमित होने पर भी फसल की पैदावार बढ़ाने का एक सस्ता और आसान तरीका प्रदान करता है। 

महत्वपूर्ण खबर: पैक्स को पांच साल में 65 हजार से बढ़ाकर 3 लाख किया जाएगा

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.