देशभर में उर्वरक के माडल आउटलेट्स की शीघ्र लांचिग होगी – डा. मांडविया

Share

15 जुलाई 2022, बेंगलुरूदेशभर में उर्वरक के माडल आउटलेट्स की शीघ्र लांचिग होगी – डा. मांडविया – बेंगलुरू में आयोजित राज्यों के कृषि व बागवानी मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन में केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री डा. मांडविया ने खाद की वैश्विक स्थिति बताते हुए कहा कि भारत को इसे काफी मात्रा में आयात करना पड़ता है, रा-मटेरियल भी बहुत महंगा है, इसके बावजूद केंद्र सरकार अत्यधिक सब्सिडी दे रही है। डीएपी पर सब्सिडी को 2020-21 में 512 रु. से बढ़ाकर 2022-23 खरीफ सीजन के लिए 2501 रु. कर दिया गया है। विश्व के अन्य देशों की तुलना में भारत में डीएपी के दाम सबसे कम है। डा. मांडविया ने कहा कि प्रधानमंत्री के निर्देशानुसार, किसानों पर बढ़ी लागत का बोझ नहीं डाला जा रहा है व इसके सुगम वितरण के लिए सरकार प्रतिबद्ध है,  उन्होंने बताया कि देशभर में खाद के माडल आउटलेट्स की शीघ्र  लांचिग होगी। डा. मांडविया कहा कि अब देश में अभियान के रूप में नैनो फर्टिलाइजर का उपयोग बढ़ाने की सख्त जरूरत है। उन्होंने राज्यों से इस संबंध में सहयोग का अनुरोध करते हुए कहा कि फर्टिलाइजर की उपलब्धता का जिलेवार हिसाब-किताब रखा जाएं ताकि उसका समुचित प्रबंधन एवं वितरण हो सकें। किसानों का फर्टिलाइजर कहीं उद्योगों को नहीं चला जाएं, इस पर भी कड़ी निगरानी रखी जाना चाहिए। 

महत्वपूर्ण खबर: 15 अगस्त तक किसान खुद कर सकेंगे ई -गिरदावरी

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.