पंजाब और हरियाणा के किसान धान की फसल को लेकर चिंतित

Share

24 अगस्त 2022, नई दिल्ली: पंजाब और हरियाणा के किसान धान की फसल को लेकर चिंतित – पंजाब और हरियाणा के किसानों को एक नई चिंता सता रही है। भारत के दोनों राज्यों में धान के किसानों ने फसल की रुकी हुई बढ़वार को लेकर नई चिंता जताई है। वैज्ञानिक समुदाय कारण के बारे में निश्चित नहीं है।

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय (पीएयू) के विशेषज्ञों की एक टीम कारण का निदान करने की कोशिश कर रही है और इस सप्ताह रिपोर्ट आने की उम्मीद है।

महत्वपूर्ण खबर: बुरहानपुर में दुकानदार का उर्वरक प्राधिकार पत्र निलंबित

होशियारपुर, फतेहगढ़, पठानकोट, पटियाला और लुडियाना जिले प्रमुख क्षेत्रों में जहां धान की कम लंबाई देखी गई है। इस समय तक फसल लगभग 2 फीट लंबी हो चुकी होती है लेकिन यह अभी भी 9-10 इंच लंबी है। यह पूरे खेत को प्रभावित नहीं कर रहा है बल्कि बोए गए क्षेत्र में छोटे क्षेत्रों में है। रिपोर्ट की गई सबसे अधिक प्रभावित किस्म पूसा 44, पीआर 121 और पीआर 113 है।

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़ ,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.