खाद्यान्नों पर 5% जीएसटी के विरोध में 16 जुलाई को कारोबार बंद

Share

13 जुलाई 2022, इंदौर: खाद्यान्नों पर 5% जीएसटी के विरोध में 16 जुलाई को कारोबार बंद – भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल, नई दिल्ली के आह्वान पर केंद्र सरकार द्वारा 18 जुलाई से सभी प्रकार के दाल-दलहन और अन्य जीवनोपयोगी खाद्यान्नों, मोटे अनाजों पर 5% जीएसटी आरोपित करने के विरोध में देश के सभी प्रकार के खाद्यान्न व्यापार से जुड़े व्यापारी, उद्योगपति एवं कारोबारी 16 जुलाई  को अपना सम्पूर्ण कारोबार बंद रखेंगे। इस दौरान देश की सभी मंडियाँ भी बंद रहेंगी।

ऑल इंडिया दाल मिल एसोसिएशन की प्रेस विज्ञप्ति में अध्यक्ष श्री सुरेश अग्रवाल ने बताया कि जून के अंतिम सप्ताह में नई दिल्ली में जीएसटी कौंसिल एवं देश के विभिन्न राज्यों के वित्त मंत्रियों की मीटिंग में सभी प्रकार की दालों एवं अन्य खाद्यान्नों पर आगामी 18 जुलाई से 5% जीएसटी लगाने की घोषणा केंद्र सरकार ने की है | जबकि 01 जुलाई 2017 को जब जीएसटी लागू किया गया था तब प्रधानमंत्री  श्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन वित्तमंत्री स्व. श्री अरुण जेटली ने बार-बार कहा था कि आवश्यक वस्तुओं और सभी प्रकार के दाल-दलहन एवं खाद्यान्नों पर जीएसटी नहीं लगाया जायेगा, लेकिन अब इस पर जीएसटी लगाया जा रहा है। केंद्र सरकार का यह फैसला देश के खाद्यान्न व्यापार से जुड़े सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों को चौपट करने वाला है। जीएसटी कौंसिल द्वारा 5% जीएसटी लगाने की अनुशंसा केंद्र सरकार से की गई है, जिससे भारत की लगभग 7300 कृषि उपज मंडियाँ, 8000 दाल इंडस्ट्रीज़, 9600 राइस मिल, 8000 फ्लोअर मिल, लगभग 30 लाख छोटी-छोटी चक्कियां  और 3 करोड़ के आस-पास खुदरा व्यापारी प्रभावित होंगे।

उल्लेखनीय है कि भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल, नई दिल्ली द्वारा गत दिनों नई दिल्ली में आयोजित व्यापारियों  एवं उद्योगपतियों की संयुक्त आम सभा में  सरकार के इस निर्णय पर अपना विरोध एवं आपत्ति दर्ज कराने के लिए 16 जुलाई ,शनिवार को देश के सभी खाद्यान्न व्यापार से जुड़े व्यापारी, कारोबारी एवं उद्योगपति  ने एवं देश की सभी कृषि उपज मंडियों में  एक दिन का बंद रखने का निर्णय सर्व सम्मति से लिया गया है | ऑल इंडिया दाल मिल एसोसिएशन भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल, नई दिल्ली के  बंद का समर्थन करती है और सभी  दाल मिलर्स बंधुओं से अनुरोध करता है कि 16जुलाई  को अपना सम्पूर्ण कारोबार बंद रखकर सहयोग प्रदान करें ।

महत्वपूर्ण खबर: पीएम-किसान की अगली किश्त सितंबर में आने की संभावना 

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.