सरकारी योजनाएं (Government Schemes)

छत्तीसगढ़ में एक लाख निजी और 3721 सामुदायिक बाड़ियां विकसित

Share

6 जून 2022, रायपुर: छत्तीसगढ़ में एक लाख निजी और 3721 सामुदायिक बाड़ियां विकसित – छत्तीसगढ़ में संचालित सुराजी गांव योजना के बाड़ी कार्यक्रम के तहत राज्य में अब तक उद्यानिकी विभाग की मदद से एक लाख निजी बाड़ियां और 3721 सामुदायिक बाड़ियां विकसित की गई है। सामुदायिक बाड़ियों का रकबा 1719 हेक्टेयर है, जहां महिला समूह विभिन्न प्रकार के साग-सब्जियों की खेती कर आय अर्जित कर रही हैं। सामुदायिक बाड़ियों के विकास के लिए उद्यानिकी विभाग के पास पृथक से कोई बजट प्रावधान नहीं है। सामुदायिक बाड़ियों का विकास विभिन्न विभाग की योजनाओं के कन्वर्जेंस के माध्यम से किया जाता है।

यह जानकारी उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक में दी गई। बैठक की अध्यक्षता शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष श्री राम कुमार पटेल ने की। श्री पटेल ने विभाग द्वारा संचालित सभी केन्द्र प्रवर्तित एवं राज्यपोषित योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को शत-प्रतिशत लक्ष्य की पूर्ति के निर्देश दिए।

संचालक उद्यान श्री माथेश्वरन वी ने बताया कि राज्य पोषित योजनाओं का कुल बजट 20.49 करोड़ है, जिसमें मुख्य भाग पोषण बाड़ी योजना के लिए 10 करोड़ रूपए का प्रावधान रखा गया है। अपर संचालक उद्यान श्री भुपेन्द्र कुमार पाण्डेय ने कहा कि राज्य पोषित योजना के घटक सामुदायिक फेंसिंग की कृषकों द्वारा बहुत अधिक मांग की जा रही है।

 बैठक में शाकम्भरी बोर्ड के सदस्य श्री अनुराग पटेल, श्री दुखवा पटेल, श्री पवन पटेल, श्री हरि पटेल, बोर्ड के सचिव श्री एन.एस. लावत्रे, संयुक्त संचालक अभियांत्रिकी श्री अवधिया, उप संचालक श्री नीरज शाहा, श्री मनोज कुमार अम्बष्ट, सहायक संचालक श्रीमती मीनू दास सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

महत्वपूर्ण खबर: सिंजेंटा को ड्रोन से फफूंदनाशी छिड़काव की मंजूरी मिली

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *