धनिये के बीज फूल कर बड़े व विकृत हो जाते हैं, नियंत्रण के उपाय

Share

26 नवंबर 2021, धनिये के बीज फूल कर बड़े व विकृत हो जाते हैं, नियंत्रण के उपाय –

समाधान- यह एक बीमारी है जो फफूंदी द्वारा उत्पन्न होती है, जो भूमिजनित रहती है।

  • इस बीमारी के लक्षण पत्तियों की शिराओं में पहले दिखाई देते हैं। फिर ये पत्तियों के डंठल, तने तथा अंत में बीज में दिखाई देते हैं। ग्रसित भाग फूल जाते हैं।
  • ग्रसित बीज लोंग का आकार ले लेती है व बीज से आकार में 2-3 गुना बढ़ जाते हैं।
  • प्रारंभ में ग्रसित भाग चमकीला रहता है व बाद में खुरदरा हो जाता है। ये फूले भाग लगभग 1 से.मी. लंबे तथा आधा से.मी. चौड़े रहते हैं।
  • अधिक ग्रसित होने पर पौधे मर जाते हैं। भूमि में अधिक नमी व छाया इसके प्रकोप को बढ़ावा देती हैं।
  • यदि प्रकोप प्रत्येक वर्ष हो रहा हो तो फसल चक्र अपनायें। ग्रसित खेत में धनिया न लें।
  • इसके नियंत्रण के लिये थायरम 500 ग्राम से 100 किलो बीज को उपचारित कर बोयें।
Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.