किसानों की सफलता की कहानी (Farmer Success Story)

चंबल को मालवा बनायेंगे श्री सुजान सिंह  

Share

28 नवम्बर 2022, मुरैना । चंबल को मालवा बनायेंगे श्री सुजान सिंह  –  वीरान वीहड़ से पहचान रखने वाले चंबल क्षेत्र में भी हरित क्रांति ने कदम रखकर यहां की सरसों फसल को पहचान दिलाई है। इसी क्षेत्र में जन्मे श्री सुजान सिंह ठाकुर कृषि विभाग में 39 वर्षों तक मालवांचल के रतलाम, उज्जैन जिलों में सेवाएं देने के उपरांत पिछले 1 वर्षों से चंबल क्षेत्र के ग्राम खरगापुर (बानमौर) में अपनी 3 बीघा पैतृक भूमि को संभाल रहे हैं। श्री ठाकुर के मन मस्तिक में वही मालवा की आधुनिक खेती घूमती थी। पिछले वर्ष इन्होंने वही प्रयास अपने खेतों पर किए जिनके सकारात्मक परिणाम मिले। पिछले वर्ष रोपे पौधे धीरे-धीरे फलदार बन रहे हैं। श्री ठाकुर ने अपने खेत पर 150 पौधे एप्पल बेर, अमरूद ग्वालियर 27 प्रजाति के 50 पौधे, वीएनआर अमरूद के 150 पौधे लगाए हैं। सभी में 10 फीट की दूरी रखी गई है। जिससे इनके बीच अंतरवर्तीय गेहूं,चना, सरसों, सोयाबीन आदि फसल लेने में कोई परेशानी नहीं होती है। फसलों के साथ सब्जी उत्पादन, हल्दी की खेती भी करते हैं।

श्री ठाकुर ने एक रतनजोत पौधे के बीजों से 200 पौधे तैयार कर पानी रोकने के लिए गड्ढों एवं खेत की मेड़ों पर लगाए, जिससे गड्ढों की मिट्टी का कटाव तो रुका ही फसल की सुरक्षा भी हुई। पहले भूमि पर पारंपरिक फसल ही बोई जाती थी। किंतु पिछले वर्ष से खेती में परिवर्तन कर आधुनिक तरीके अपनाए गए हैं। आगामी वर्षों में फलोद्यान एवं अंतरवर्तीय फसल लगाने से खेती फायदे का सौदा बनेगी एवं चंबल क्षेत्र में इस प्रकार से खेती देखकर अन्य कृषक भी इस दिशा में कदम बढ़ाएंगे। अधिक जानकारी श्री सुजान सिंह ठाकुर के मो.: 9399764850 पर ले सकते हैं।

महत्वपूर्ण खबर: मध्य प्रदेश में प्राकृतिक खेती के लिए पंजीयन पोर्टल पर

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *