हर व्यक्ति इम्युनिटी पावर बढ़ाने रोज़ाना पिए आयुर्वेदिक काढ़ा : मुख्यमंत्री श्री चौहान

Share this

हर व्यक्ति इम्युनिटी पावर बढ़ाने रोज़ाना पिए आयुर्वेदिक काढ़ा : मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल : सोमवार, अप्रैल 27, 2020,
मुख्‍यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संकट के इस दौर में आवश्‍यक है कि हर व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पावर) अच्‍छी रहे, जिससे यह वायरस हम पर प्रभाव न कर पाए। हम ऐसे प्रयास करें, जिससे कोरोना हो ही नहीं। हमारे ऋषियों एवं वैद्यों ने आयुर्वेद में ऐसी औषधियों बनाई हैं, जिनसे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और हम स्‍वस्‍थ्‍य रहते हैं। हमारे आयुष विभाग द्वारा तैयार किया गया विशेष त्रिकुट चूर्ण-काढ़ा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में अत्‍यधिक कारगर है। इसे प्रतिदिन तीन से चार बार पिएं। श्री चौहान ने जीवन अमृत योजना का मंत्रालय में शुभारंभ करते हुए यह बात कही। मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से प्रदेश के विभिन्‍न जिलों के लोगों से बातचीत कर उन्‍हें इस योजना के बारे में बताया। मुख्‍य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, आयुष चिकित्सक डॉ. उमेश शुक्ला इस अवसर पर उपस्थित थे। 

॰ एक करोड़ पैकेट्स का वितरण
मुख्‍यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि जीवन अमृत योजना में आयुष विभाग के सहयोग से मध्‍यप्रदेश लघु वनोपज संघ द्वारा इस काढ़े के 50-50 ग्राम के पैकेट्स तैयार किए गए हैं। ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में लगभग एक करोड़ व्‍यक्तियों को यह काढ़ा नि:शुल्‍क वितरित किया जा रहा है। 

॰स्‍वयं पिएं तथा परिवार को पिलाएं
मुख्‍यमंत्री श्री चौहान ने उज्‍जैन के श्री रोहित धमानी और श्री जीत मल, इंदौर के श्री श्‍याम यादव और श्री राधेश्‍याम, मुरैना के श्री पिंटू और बंटी, नरसिंहपुर की श्रीमती अंजली चौधरी आदि से बातचीत की। मुख्‍यमंत्री ने काढ़े के गुणों के बारे में बताते हुए कहा कि यह अत्‍यंत उपयोगी है। आप स्‍वयं पिएं तथा अपने परिवार को पिलाएं, नीरोग रहें त‍था सुखी रहें।
 
॰काढ़ा बनाने की विधि
मुख्‍यमंत्री श्री चौहान ने इस काढ़े को बनाने की विधि भी बताई। पीपल, सोंठ एवं काली-मिर्च को समान मात्रा में मिलाकर तथा कूटकर तैयार किए जाने त्रिकटु चूर्ण को 3-4 तुलसी के पत्‍तों के साथ एक लीटर पानी में उबालें। जब पानी आधा रह जाए, तब लगभग एक-एक कप कुनकुना काढ़ा दिन में तीन से चार बार पिएं।

Share this
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *