पौधों में क्लोरीन की कमी और अधिकता के लक्षण क्या हैं?

Share

09 मई 2023, भोपाल: पौधों में क्लोरीन की कमी और अधिकता के लक्षण क्या हैं? – पौधे बढ़ने के लिए विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों को अवशोषित करते हैं। पोषक तत्वों में कोई भी असंतुलन अंतिम उत्पाद को प्रभावित कर सकता है। इसलिए, बढ़ते पौधे की पूरी तरह से जांच एक विशेष पोषक तत्व तनाव की पहचान करने में सहायता कर सकती है। विशिष्ट लक्षण दिखाई दे सकते हैं यदि किसी पौधे में किसी विशिष्ट पोषक तत्व की कमी है। कुछ पोषक तत्वों की कमी के तुरंत लक्षण नहीं होते हैं। इसके कारण नियमित पौधों की प्रक्रिया बाधित होती है, जिससे कुछ मध्यवर्ती कार्बनिक अणुओं की अधिकता और दूसरों में कमी हो जाती है। इसके परिणामस्वरूप असामान्यताएं होती हैं जिन्हें बाद में लक्षणों के रूप में पहचाना जाता है।

पौधों में क्लोरीन की कमी और अधिकता के लक्षण

पौधों में क्लोरीन की कमी- पौधो में क्लोरीन की कमी से नई पत्तियाँ हरितहीन हो जाती हैं और पौधे आसानी से मुरझा जाते हैं। गेहूं के पौधों में क्लोरीन की कमी होने पर पौधे की बीमारी अन्य पौधो को संक्रमित कर देती हैं।

पौधों में क्लोरीन  की अधिकता– पौधो में क्लोरीन की अधिकता से पत्तियों के किनारों और सिरों के जलने के साथ पौधे की निचली पत्तियों में समय से पहले ही पीलापन आ जाता हैं । पत्तियों का  विखंडन होने लगता हैं और पौधे आसानी से मुरझा जाते हैं।

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements