प्राकृतिक खेती मानव एवं जमीन दोनों के लिए जरूरी : श्री शर्मा

Share

कलेक्टर ने किया फार्म हाउस में औषधीय पौधों का अवलोकन

5 सितम्बर 2022,आगर मालवा  प्राकृतिक खेती मानव एवं जमीन दोनों के लिए जरूरी : श्री शर्मा – जैविक एवं प्राकृतिक खेती समय की बड़ी आवश्यकता है यह खेती मानव जीवन एवं जमीन दोनों के लिए लाभदायक है। जिले के अधिक से अधिक किसान प्राकृतिक खेती की ओर अग्रसर होकर रसायनिक खादों के उपयोग से पर्यावरण और मानव स्वास्थ्य को होने वाली हानियों को कम करें। यह बात कलेक्टर श्री अवधेश शर्मा ने ग्राम हामला खेड़ी में प्राकृतिक खेती प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए कही। कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि किसानों में रसायनिक खादों को लेकर भ्रम है जबकि जैविक एवं प्राकृतिक तरीके से की गई खेती से भी अच्छा एवं गुणवत्तापूर्ण उत्पादन होता है।

प्रशिक्षण जिले में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए सबमिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन आत्मा योजना अंतर्गत आयोजित किया गया। जिसमें जिला पंचायत सीईओ श्री डी. एस. रणदा, उप संचालक कृषि श्री एन. वी. वर्मा, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्री एस.के. चतुर्वेदी जिले में प्राकृतिक खेती से जुड़े किसान तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण कृषक उपस्थित थे। कृषि वैज्ञानिक डॉ.आरपीएस शक्तावत ने बताया कि कृषकों को प्राकृतिक खेती के प्रति जागरूक करने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है ताकि किसान प्रशिक्षित होकर प्राकृतिक खेती की ओर अग्रसर हो। कलेक्टर ने सभी प्रगतिशील किसानों को जिला प्रशासन की ओर से शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम का संचालन बीटीएम श्री वेद प्रकाश सेन ने किया। कलेक्टर ने प्राकृतिक खेती का अवलोकन कर कार्यक्रम उपरांत ग्राम हामला खेड़ी में किसान श्री दिलीप सिंह के फार्म हाउस पर जाकर उनके द्वारा जैविक व प्राकृतिक तरीके से की जा रही  खेती देखी, साथ ही जैविक खाद बनाने की विधि का अवलोकन किया।

महत्वपूर्ण खबरजबलपुर संभाग में कई जगह वर्षा, 8 जिलों में भारी वर्षा की संभावना

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.