फसल की खेती (Crop Cultivation)

मिर्च के पौधों में लगने वाला रस चूसक कीट माहू के नियंत्रण के उपाय

Share

03 मई 2023, भोपाल: मिर्च के पौधों में लगने वाला रस चूसक कीट माहू के नियंत्रण के उपाय – रसचूसक कीट माहू मिर्च के पौधों में प्रमुख रूप से लगने वाले कीटों में से एक हैं। रस चूसक माहू बहुत छोटे कीड़े होते हैं जिन्हें साधारणत: आंखों से देखना सम्भव नहीं हो पाता है। माहू कीट को एफिस गोसीपाई ग्लोवर के नाम से भी जाना जाता हैं। यह कीट पत्तियों एवं पौधों के अन्य कोमल भागों से रस चूसकर पत्तियों एवं कोमल भागों पर मधुरस स्त्राव करते हैं, जिससे सूटी मोल्ड विकसित हो जाती है। परिणाम स्वरूप फल काले पड़ जाते हैं। यह कीट मोजेक रोग का प्रसार करता है।

नियंत्रण-

1. कीट की प्रारम्भिक अवस्था में नीमतेल 5 मिली. प्रति लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।
2. डायमिथिएट 30 ईसी की 30 मि.ली. मात्रा को 15 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।
3. कीट के अत्यधिक प्रकोप की अवस्था में 15 ग्राम एसीफेट या इमीडाक्लोप्रिड 18.5 एस.एल. की 5 मिली मात्रा 15 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।
4. फेनप्रोपाथ्रिन 0.5 मिली मात्रा को प्रति लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements