तुषार, पाले एवं शीत लहर से बचाव के लिए किसानों को सलाह

Share

10 जनवरी 2022, इंदौर । तुषार पाले एवं शीत लहर से बचाव के लिए किसानों को सलाह – वर्तमान में चल रही शीतलहर को दृष्टिगत रखते हुए किसान कल्‍याण एवं कृषि विभाग द्वारा शीत लहर एवं तुषार, पाले की सम्भावना वाले मौसम में, शीत एवं पाले के प्रति अति संवेदनशील फसलें जैसे-सब्जी, भाजी एवं चना, सरसों, मटर की फसल के चारों ओर शाम के समय खेत के उत्तर-पश्चिम हिस्से में धुआं करने की किसानों को सलाह दी गई है। पाला पड़ने की संभावना पर फसलों पर जल विलेय सल्फर 80 प्रतिशत की 500 ग्राम मात्रा प्रति एकड़ की दर से छिड़काव करने एवं खेतों से खरपतवार की निदाई- गुड़ाई कर निकलवाने की सलाह दी गई है, ताकि खेत में वायु एवं प्रकाश पर्याप्त रूप से फसल को प्राप्त होता रहे और मौसम की विपरीत दशाओं से फसल को सुरक्षा प्राप्त हो सके।  

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.