राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

भारत में नवीनतम राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार से नवीनतम समाचार और अपडेट। कृषि और किसानों से संबंधित केंद्र सरकार की खबरें और अपडेट। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद और उसके भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (IARI) जैसे संस्थान से समाचार। भारत के कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा से जुड़ी खबर। सब्सिडी, सरकारी योजनाओं से संबंधित समाचार और अपडेट। खरीफ और रबी क्षेत्र कवरेज, सरकार द्वारा बीज वितरण आदि से संबंधित अपडेट। भारत के कृषि और किसानों के लिए पीएम मोदी का निर्णय। पीएम-किसान योजना अपडेट। गेहूं, धान, बासमती, प्याज, सोयाबीन आदि के निर्यात से संबंधित समाचार। मानसून पूर्वानुमान से संबंधित राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)। केंद्र सरकार की किसानों के लिए सब्सिडी और योजनाएँ, किसानो के लिए महत्वपूर्ण खबर।

राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

मक्का उत्पादन में छिन्दवाड़ा को मिलेगी अंतर्राष्ट्रीय पहचान

कॉर्न फेस्टिवल-2019 भोपाल। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने छिन्दवाड़ा में कॉर्न फेस्टिवल 2019 का शुभारंभ करते हुए कहा कि छिन्दवाड़ा को मक्का उत्पादन के क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के प्रयास किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि छिन्दवाड़ा जिले

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

ग्रामीण क्षेत्रों का विकास सरकार की प्राथमिकता

ग्रामीण विकास मंत्रालय का राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह नई दिल्ली। भारत को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का बड़ा सपना गांवों के विकास के बगैर संभव नहीं है। ग्रामीण विकास, कृषि और किसान कल्याण तथा पंचायती राज मंत्री श्री नरेन्द्र

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

राज्य में रबी बोनी 111 लाख हेक्टेयर से अधिक

गेहूं की बुवाई लक्ष्य से पार (विशेष प्रतिनिधि) भोपाल। राज्य में अब तक रबी बोनी 111 लाख हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में कर ली गई है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 97 लाख हेक्टेयर में बोनी की गई थी।

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

26 हजार कृषकबंधु देंगे किसानों को तकनीकी ज्ञान

313 ब्लॉक को-आर्डिनेटर भी बनेंगे (विशेष प्रतिनिधि) भोपाल। ग्रामीण स्तर पर किसानों एवं प्रसार तंत्र के बीच जीवंत संबंध स्थापित करने तथा कृषि के साथ-साथ उससे सम्बद्ध विभागों के मध्य तालमेल बैठाने के उद्देश्य से आत्मा योजना के तहत प्रदेश

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

दिहाड़ी से भी कम है राहत राशि

मध्य प्रदेश सरकार का राहत वितरण मप्र में अतिवृष्टि से नष्ट हुई खरीफ फसलों की क्षतिपूर्ति के लिये राज्य शासन ने लम्बी कबायद के बाद प्रशासन से आंकलित नुकशान में कॉटछाट करके शासन ने तय की गई क्षति राशि का

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

किसानों को हवाई सपने दिखाती सरकार

म.प्र. में सत्तासीन होने के लिए कांग्रेस ने किसानों से ढेर सारे वायदे किये थे परंतु सत्ताशीर्ष पर विराजमान होने के लगभग ग्यारह महीने बाद भी उन वायदों/आश्वासनों की क्रियान्वयन के स्तर पर परिणति का आकलन करें तो यही कहा

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

उर्वरक का कालाबाजार

यह कैसा लोकतंत्र है कि अन्नदाता देश का पेट भरने एक-एक बोरी यूरिया की जुगाड़ में भटक रहा है। सत्ता पक्ष एवं विपक्ष किसान की इस विपदा में अपना राजनैतिक लाभ तलाश रहा है। मौके का राजनैतिक लाभ लेने आरोपों

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

कपास उत्पादन 360 लाख गांठ होने का अनुमान

निर्यात बढऩे की संभावना मुंबई। सीएबी ने फसल सीजन 2019-20 में कपास का उत्पादन 9 फीसदी बढ़कर 360 लाख गांठ(एक गांठ में 170 किलो) होने का अनुमान लगाया है। पिछले साल देश में 330 लाख गांठ कपास का उत्पादन हुआ

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

श्री संजीव सिंह होंगे नए कृषि संचालक

आईएएस अधिकारियों के तबादले भोपाल। कमलनाथ सरकार राज्य में आईएएस अधिकारियों के तबादलों का सिलसिला नहीं रोक रही है। लगभग एक वर्ष होने को हैं। इन 12 महिनों में हर माह आईएएस अधिकारी बदले गए हैं केवल आचार संहिता की

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

यूरिया संकट – हौवा या हवा ?

(विशेष प्रतिनिधि) यूरिया एक ऐसा उर्वरक है जिसका देश में उत्पादन व आयात दोनों ही देश की मांग से कम है। ऐसे में केंद्र ने इसे अपने नियंत्रण में रखा है। केंद्र राज्यों की यूरीया मांग का आंकलन कर उन्हें

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें