मत्स्य पालन में रोजगार के साथ आर्थिक लाभ की असीम संभावनाएं – मंत्री श्री सिलावट

Share

मछुआरा समुदाय को 8 करोड़ से अधिक की राशि वितरित की गई

10 जुलाई 2021, भोपाल । मत्स्य पालन में रोजगार के साथ आर्थिक लाभ की असीम संभावनाएं — मंत्री श्री सिलावट – मध्य प्रदेश के जल संसाधन, और मत्स्य विकास मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने मछुआ दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि मछुआ पालन ऐसा व्यवसाय है कि इससे कम लागत में अधिक से अधिक आय प्राप्त की जा सकती है वर्तमान में रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के लिए मछली पालन सबसे बेहतर व्यवसाय है कृषि लागत की तुलना में मछली पालन में बहुत कम लागत आती है और आय 3 गुना से भी अधिक होती है इसके लिए जरूरी है कि हम अधिक से अधिक बेरोजगार युवाओं को विशेषकर मछुआ समाज के युवाओं को मछली पालन के लिए तैयार करें ,विशेष प्रशिक्षण उपलब्ध कराएं इसके लिए विभाग लगातार क्रेडिट कार्ड, अनुदान, और सहायता भी उपलब्ध करा रहा है विशेष प्रोत्साहन राशि भी विभाग द्वारा दी जा रही है।

मुख्य  अतिथि  स्वास्थ मंत्री श्री प्रभूराम चौधरी ने कहा की मछुआ दिवस पर प्रदेश के सभी मछुआ समुदाय के लोगो को बधाई इसके साथ ही मछली पालन से आपने प्रदेश के लोगो को बेहतर आहार का एक विकल्प भी उपलब्ध कराया है। जो लोग मछली खाते है उनको इस कोविड संक्रमण में अतिरिक्त विटामिन और मिनरल्स से इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद मिलती है। मछली एक सम्पूर्ण आहार की श्रेणी में आती है जिससे शरीर की सभी आवश्यक जरूरत की पूर्ति हो जाती है। स्वाद के साथ स्वास्थ की बेहतर देखभाल के लिए इसे प्रोत्साहित किया जाना चाहिए

कार्यक्रम में  अधिक उत्पादन करने वाली मछुआ सोसायटी को 50 हजार और 30 हजार रु.और  इसके साथ ही व्यक्तिगत रूप से काम कर रहे मछुआरों को भी प्रमाण पत्र और राशि प्रदान की गई। कार्यक्रम में प्रोत्साहन राशि के कुल  22 लाख से अधिक की राशि वितरित की गई। इसके साथ ही आजीविका योजना के अंतर्गत 5 करोड़ और नाव जाल योजना वितरण के अंतर्गत 3 करोड़ से अधिक की राशि वितरित की गई। कार्यक्रम में मत्स्य महासंघ के एमडी श्री पुरुषोत्तम धीमान और मछली पालन के संचालक श्री भरत कुशवाह भी उपस्थित रहे।

 
 
Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.