कम वर्षा देखते हुए धान नहीं बोएं किसान

Share

भोपाल। कमजोर मानसून की आशंका में मध्यप्रदेश सरकार ने भावी स्थिति से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में म.प्र. मंत्रिमंडल की नियमित केबिनेट के पहले कृषि केबिनेट में सरकार ने विचार मंथन किया। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई बैठक में फैसला लिया गया कि कम वर्षा को देखते हुए किसानों को धान बुआई के लिए प्रोत्साहित न किया जाय। धान की महामाया किस्म को बीज उत्पादन योजना से ही बाहर कर दिया गया है ताकि बीज धान किसानों तक नहीं पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सितम्बर तक किसी भी प्रकार से बिजली प्रदाय प्रभावित नहीं होना चाहिए। उन्होंने हर फसल के लिए जोनवार और जिलेवार आकस्मिक योजनाएँ तैयार रखने के भी निर्देश दिए।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.