राज्य कृषि समाचार (State News)

बैतूल में एकीकृत बागवानी विकास मिशन अंतर्गत प्रशिक्षण संपन्न

Share

28 फरवरी 2023, बैतूल: बैतूल में एकीकृत बागवानी विकास मिशन अंतर्गत प्रशिक्षण संपन्न – एकीकृत बागवानी विकास मिशन अंतर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र में 21 फरवरी को एक दिवसीय उद्यानिकी प्रशिक्षण आयोजित किया गया। इस दौरान मसालों की कृषि को बढ़ावा देने के लिए जिले के 110 कृषकों को प्रशिक्षित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. टीआर शर्मा एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख कृषि विज्ञान केन्द्र छिंदवाड़ा डॉ. एसके पन्नासे सम्मिलित हुए।

आरंभ में केन्द्र के वरिष्ठ एवं प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. व्ही.के. वर्मा द्वारा मसालों की कृषि के महत्व को रेखांकित किया गया। डॉ. टीआर शर्मा ने मसाला फसलों के उत्पादन के महत्व पर प्रकाश डालते हुए जिले की जलवायु अनुरूप उत्पादित की जाने वाली मसाला फसलें अदरक, हल्दी, धनिया आदि की विशेषताओं के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की। डॉ. एसके पन्नासे द्वारा किसानों को हल्दी की उन्नत उत्पादन तकनीक, उन्नत किस्मों का प्रशिक्षण दिया गया। उप संचालक उद्यानिकी श्री आर.के. कोरी द्वारा जिले में मसाला फसलों के क्षेत्रफल, संभावनाएं एवं प्रमुख समस्याओं को रेखांकित कर इनके प्रभावी समाधान का आह्वान कृषि विशेषज्ञों से किया गया। उद्यानिकी वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केन्द्र छिंदवाड़ा डॉ. आरके झाड़े, द्वारा लहसुन-प्याज उत्पादन प्रौद्योगिकी, केन्द्र की शस्य वैज्ञानिक डॉ. मेघा दुबे द्वारा खरपतवार प्रबंधन एवं पोषक तत्व प्रबंधन, उद्यानिकी वैज्ञानिक डॉ. एसएस गौतम द्वारा अदरक उत्पादन प्रौद्योगिकी, पौध संरक्षण वैज्ञानिक श्री आरडी बारपेटे द्वारा मसाला फसलों में पौध संरक्षण एवं खाद्य वैज्ञानिक डॉ. एमपी इंगले द्वारा मसाला फसलों का प्रसंस्करण की जानकारी दी गई। इस अवसर पर केन्द्र के प्रांगण में जैविक हाट बाजार एवं प्राकृतिक खेती की प्रदर्शनी भी लगाई गई।

उल्लेखनीय है कि एकीकृत बागवानी विकास मिशन फलों, सब्जियों, फूल, मसाले, काजू, कोको और बांस इत्यादि उत्पादों के चौमुखी विकास की केन्द्रीय वित्त पोषित योजना है। इस मिशन का प्रमुख उद्देश्य बागवानी क्षेत्र के चौमुखी विकास को बढ़ावा देना एवं क्षेत्र की जलवायु के अनुरूप अलग-अलग कार्यनीति अपनाना जिसमें अनुसंधान, तकनीक को बढ़ावा, विस्तारीकरण, फसलोंपरांत प्रबंधन, प्रसंस्करण और विपणन आदि शामिल है।

महत्वपूर्ण खबर: गेहूँ मंडी रेट (27 फरवरी 2023 के अनुसार)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *