उत्तर प्रदेश के “आम” भूटान के खास हुए

Share

30 जुलाई 2021, लखनऊ । उत्तर प्रदेश के “आम” भूटान के खास हुए भारत विश्व के आम उत्पादक देशों में अग्रणी है | भारत में उत्तर प्रदेश के आम अपनी मिठास और स्वाद के कारण विदेशों में भी जाने जाते हैं | इसीलिए भारत से आमों के कुल निर्यात में उत्तर प्रदेश का हिस्सा 23.47% है | भारत से विश्व के विभिन्न देशों में गत वर्ष 400 करोड़ रु. के लगभग 50 हजार टन आम निर्यात किये गए थे | इसमें सर्वाधिक 1.4 बिलियन रु. के आमों का आयात यूएई ने किया था और यूके ने 676 मिलियन रु. का आयात किया था |

अब भूटान उ. प्र. के आमों के खरीददार के रूप उभर रहा है | आम को भूटान के बाजारों में स्थापित करने हेतु हाफेड द्वारा एपीडा नई दिल्ली, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग एवं भारतीय दूतावास-भूटान के सहयोग से वर्चुअल मैंगो बायर सेलर मीट का आयोजन कराया गया।

सुश्री रूचिरा कम्बोज, भारतीय राजदूत भूटान कहती हैं कि भूटान के बाजारों में उत्तर प्रदेश से आम निर्यात किये जाने की पर्याप्त सम्भावनाएं विद्यमान है। भूटान द्वारा गत वर्ष की तुलना में  दोगुना भारतीय आम का आयात इस वर्ष किया गया है। हाफेड एवं प्रदेश सरकार द्वारा भेजे गये 1 टन आम की गुणवत्ता की सरहना करते हुए उन्होंने अपेक्षा की कि उत्तर प्रदेश के आमों को भूटान के बाजारों में निर्यात किया जाय।

श्री अंजनी कुमार श्रीवास्तव, प्रबन्ध निदेशक हाफेड  का कहना है कि हाफेड  के पास औद्यानिक उत्पादकों  का ग्रामीण स्तर पर बहुत अच्छा नेटवर्क उपलब्ध है। अतः हाफेड द्वारा आम निर्यात हेतु बैकवर्ड लिंकेज हेतु पूर्ण सहयोग किया जा सकता है। उत्तर प्रदेश में दो  आधुनिक पैक हाउस स्थापित हैं, जिनसे उच्च गुणवत्ता का आम निर्यात हेतु तैयार किया जा सकता है। उनका मानना है कि भूटान को महंगे हवाई मार्ग के बजाये सड़क मार्ग  से निर्यात करने हेतु प्रेरित किया जाना चाहिए, जिससे आम उत्पादकों को  अच्छा लाभ प्राप्त हो सके तथा भूटान के उपभोक्ताओं को उचित मूल्य पर उत्तर प्रदेश का आम प्राप्त हो सकेगा। साथ ही आश्वासन दिया गया कि भूटान के आयातकों को हाफेड द्वारा पूर्ण सहयोग प्रदान किया जायेगा। 

श्री एम.वी.एस. रामी रेड्डी, अपर मुख्य सचिव, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण, उ0प्र0 शासन ने आश्वासन दिया गया कि प्रदेश सरकार भूटान के आयातकों को उत्तर प्रदेश से आम आयात करने हेतु आवश्यक सहयोग प्रदान करेगी। एपीडा के अधिकारियों द्वारा प्रदेश सरकार एवं हाफेड द्वारा आम निर्यात हेतु किये गये प्रयास की सराहना करते हुए आश्वासन दिया गया कि आगामी वर्षों में उत्तर प्रदेश के आम का ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार भूटान के बाजारों में किया जायेगा। वर्चुअल मैंगो बायर सेलर मीट में डा0 आर0के0 तोमर, निदेशक, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण, उ0प्र0 एवं श्री एस0के0 सुमन, प्रभारी-विपणन हाफेड भी उपस्थित रहे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.