देश के 16वें राष्ट्रपति का चुनाव 18 जुलाई को

Share

21 जुलाई को होगी मतगणना

18 जून 2022, नई दिल्ली । देश के 16वें राष्ट्रपति का चुनाव 18 जुलाई को – देश के 16वें राष्ट्रपति के चुनाव के लिए आयोग ने कार्यक्रम घोषित कर दिया है। 18 जुलाई को मतदान होगा और 21 जुलाई को मतगणना होगी। भारतीय निर्वाचन आयोग ने चुनाव कार्यक्रम घोषित करते हुए कहा कि राजनीतिक दल अपने सांसदों और विधायकों को किसी तरह की व्हिप जारी नहीं कर सकते। राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई 2022 को खत्म हो रहा है। पिछली बार 17 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति चुनाव हुए थे। भारत के राष्ट्रपति का चुनाव अनुच्छेद 55 के अनुसार आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के एकल संक्रमणीय मत पद्धति के द्वारा होता है। 25 जुलाई को देश को नया राष्ट्रपति मिल जाएगा।

वोटों की गिनती… राष्ट्रपति चुनाव में वही जीतता है, जो सांसदों और विधायकों के वोटों के कुल वैल्यू का 50 प्रतिशत से ज्यादा प्राप्त करे। राष्ट्रपति चुनाव लिए इलेक्टोरल कॉलेज के सदस्यों के वोटों का कुल वैल्यू 10,86,431 है। इस प्रकार जीत के लिए उम्मीदवार को इसका 50 प्रतिशत से ज्यादा हासिल करना होगा।
बैलेट पेपर के साथ मिलने वाले पेन से ही मार्किंग करनी होगी
किसी दूसरी पेन से वरीयता की मार्किंग करने पर वोट निरस्त होगा
राज्यसभा के महासचिव राष्ट्रपति चुनाव के रिटर्निंग अफसर होंगे।
मतदान की व्यवस्था संसद भवन और विधानसभा में होगी

नामांकन प्रक्रिया

उम्मीदवार को 15,000 रुपए जमानत राशि जमा करनी होगी
उम्मीदवार स्वयं या उनके प्रस्तावक, सेकंडर 11 बजे सुबह से शाम 3 बजे तक नामांकन कर सकेंगे

चुनाव के नियम

राजनीतिक दल सांसदों और विधायकों को व्हिप जारी नहीं कर सकते
किसी को भी बैलेट नहीं दिखा सकते
मतदान प्रक्रिया का उल्लंघन करने पर बैलेट पेपर कैंसिल कर दिया जाएगा

चुनाव कार्यक्रम 2022

चुनाव अधिसूचना- 15 जून
नामांकन की आखिरी तारीख- 29 जून
नामांकन पत्रों की जांच- 30 जून
नामांकन वापसी अंतिम तिथि-2 जुलाई
मतदान – 18 जुलाई
मतगणना- 21 जुलाई

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.