एशिया के सबसे बड़े सी.एन.जी प्लांट का कल प्रधानमंत्री करेंगे आभासी लोकार्पण

Share

रोज होगा सौ टन आर्गेनिक कम्पोस्ट का उत्पादन

18 फरवरी 2022, इंदौर ।  एशिया के सबसे बड़े सी.एन.जी प्लांट का कल प्रधानमंत्री करेंगे आभासी लोकार्पण – स्वच्छता के क्षेत्र में नवाचार के उद्देश्य से नगर निगम, इन्दौर द्वारा गीले कचरे के निपटान हेतु 550 मैट्रिक टन प्रतिदिन क्षमता के बायो सी.एन.जी प्लांट को स्थापित किया गया है। यह प्लांट संपूर्ण एशिया महाद्वीप में जैविक अपशिष्ट से बायो सी.एन.जी का सबसे बड़ा  तथा देश का पहला प्लांट हैं, जो कि इन्दौर ही नहीं अपितु प्रदेश के साथ-साथ देश के लिए गौरव की बात है। शहर के देवगुराड़िया  ट्रेंचिंग ग्राउण्ड स्थित इस बायो सी.एन.जी. प्लांट का लोकार्पण प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 19 फरवरी को अपरान्ह 12 बजे वेस्ट टू वेल्थ गोबर-धन योजना अंतर्गत वर्चुअली रूप से किया जायेगा। 

नगर निगम प्रशासक एवं संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने बताया है कि प्रस्तावित बायो सी.एन.जी प्लांट पी.पी.पी. मॉडल पर आधारित है। इस प्लांट की स्थापना पर जहां एक ओर नगर निगम, इन्दौर को कोई वित्तीय भार वहन नहीं करना पड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर प्लांट को स्थापित करने वाली एजेंसी आईईआईएसएल  , नई दिल्ली द्वारा नगर निगम, इन्दौर को प्रतिवर्ष 2.50 करोड़ रुपये प्रीमियम  के रूप में अदा किया जायेगा। कलेक्टर श्री मनीष सिंह का कहना है कि इन्दौर नगर का वेस्ट सेग्रीगेशन उत्तम क्वालिटी का होने से आईईआईएसएल, नई दिल्ली द्वारा इस प्लांट को इन्दौर में स्थापित करने का निर्णय लिया गया। आयुक्त नगर निगम सुश्री प्रतिभा पाल ने बताया है कि उक्त बायो सी.एन.जी. प्लांट की स्थापना से नगर निगम, इन्दौर को आय के साथ ही नगरीय परिवहन व्यवस्था सुदृढ करने में मदद मिलेगी।

  उल्लेखनीय है कि इस बायो सी.एन.जी प्लांट में प्रतिदिन 550 एमटी गीले कचरे (घरेलू जैविक कचरे) को उपचारित किया जायेगा, जिससे 17500 किलोग्राम बायो सी.एन.जी. गैस तथा 100 टन उच्च गुणवत्ता की आर्गेनिक कम्पोस्ट का उत्पादन होगा। यह प्लांट जीरो इनर्ट मॉडल पर आधारित है, जहां किसी प्रकार का अनुपचारित वेस्ट नहीं निकलेगा। प्लांट से उत्पन्न होने वाली 17 हजार 500 किलोग्राम बायो सी.एन.जी. में से 50 प्रतिशत गैस नगर निगम, इन्दौर को लोक परिवहन की संचालित बसों के उपयोग हेतु बाजार दर से 5 रुपये प्रति  किलोग्राम कम दर पर उपलब्ध होगी तथा शेष 50% गैस विभिन्न उद्योग एवं वाणिज्यिक उपभोक्ताओं को विक्रय की जा सकेगी।

इस कार्यक्रम में  राज्यपाल श्री मंगु भाई पटेल, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री आवासन एवं शहरी कार्य और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय श्री हरदीप सिंह पुरी, गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, भारत सरकार राज्य मंत्री श्री कौशल किशोर, मध्यप्रदेश शासन राज्य मंत्री श्री ओ.पी.एस. भदौरिया, सांसद श्री शंकर लालवानी, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री जयपाल सिंह चावड़ा भी कार्यक्रम में शामिल होंगे।

महत्वपूर्ण खबर: राज्य के 110 विकासखण्डों में बनेंगे फूडपार्क : श्री बघेल

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.