पीलीभीत कलेक्टर का किसान हितैषी कदम

Share

30 अक्टूबर 2020, इंदौर। पीलीभीत कलेक्टर का किसान हितैषी कदम आमतौर पर कलेक्टर को किसानों के हित में कम बोलते देखा गया है,लेकिन उत्तर प्रदेश के पीलीभीत कलेक्टर श्री पुलकित खरे ने पिछले दिनों पीलीभीत मंडी का आकस्मिक निरीक्षण किया।उन्होंने देखा कि मंडी कर्मचारियों और आढ़तियों की मिलीभगत से किसानों का धान समर्थन मूल्य से कम पर खरीदा जा रहा था।यह देखकर कलेक्टर ने क्रोधित होकर उपस्थित कर्मचारियों को खरी -खरी सुनाते हुए फटकार लगाई और धान को समर्थन मूल्य पर खरीदने के निर्देश दिए।

महत्वपूर्ण खबर : इन 26 जिलों में कर सकते हैं अफीम की खेती

बता दें कि इन दिनों पीलीभीत में धान की खरीदी की जा रही है।इसके लिए 13 खरीदी केंद्र बनाए गए हैं।गत दिनों कलेक्टर श्री खरे ने मंडी का आकस्मिक निरीक्षण किया।यहां उन्होंने देखा कि धान की खरीदी आढ़तिए 1100 से 1200 रुपए/क्विंटल खरीद रहे हैं,जबकि धान का समर्थन मूल्य 1868 रु./क्विंटल है। इस पर कलेक्टर ने वहाँ उपस्थित कर्मचारियों को फटकार लगाते हुए कम मूल्य पर खरीदी का कारण पूछा।स्टॉफ ने नमी होने की बात कही जिसे कलेक्टर ने खारिज कर दिया।फिर स्टॉफ ने किसानों के पंजीयन और सत्यापन नहीं होने की बात कही,तो कलेक्टर ने स्पष्ट कहा कि जो किसान मंडी  में उपज लेकर आ गया है उसकी खरीदी होनी ही चाहिए,चाहे पंजीयन न हो। किसान का पंजीयन कराने की ज़िम्मेदारी आपकी है।इसे करवाइए। फिर तौल कांटे कम होने का कारण बताया तो कलेक्टर ने कहा तौल कांटे बढा दिए जाएंगे। यह देखकर किसान  खुश हो गए और उन्होंने तालियां बजाई।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.