राज्य कृषि समाचार (State News)

राजस्थान में मुख्य सचिव द्वारा संरक्षित खेती हब-मिनी इजरायल में कृषि एवं उद्यानिकी की तकनीकों का अवलोकन

Share

8 अप्रैल 2023, जयपुर राजस्थान में मुख्य सचिव द्वारा संरक्षित खेती हब-मिनी इजरायल में कृषि एवं उद्यानिकी की तकनीकों का अवलोकन –  मुख्य सचिव श्रीमती उषा शर्मा द्वारा जयपुर के बसेडी, गुड़ा कुमावतान, बस्सी झाझड़ा और बालोलाई गांवो में कृषि एवं उद्यानिकी के क्षेत्र में हो रहे नवाचारों का अवलोकन किया और प्रगतिशील किसानों से संवाद किया। यहां पर 300 से अधिक कृषको द्वारा ग्रीन हाउस में खेती की जा रही है। इस क्षेत्र के कृषकों द्वारा संरक्षित खेती के साथ-साथ ड्रिप, मिनी स्प्रिंकलर, सोलर पंप, मल्चिंग, लो टनल, फार्म पॉन्ड आदि तकनीकों का सटीक तरीके से समन्वय कर आधुनिक खेती से बहुत अच्छी आय प्राप्त की जा रही है।

मुख्य सचिव ने कहा कि कृषि का राज्य की अर्थव्यवस्था में अहम योगदान रहा हैं। राज्य सरकार द्वारा कृषि एवं उद्यानिकी के क्षेत्र में नित नए नवाचार किए जा रहे है और कृषकों के उत्थान के लिए राज्य सरकार संकल्पित होकर कार्य कर रही है जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो सके। उन्होंने युवा कृषक रोशन लाल यादव के पोली हाउस में ड्रिप सिस्टम द्वारा पैदा किए जा रहे उन्नत किस्म के ऑर्गेनिक खीरा, टमाटर, हरी मिर्च और फूलों की तकनीक एवं इसके आर्थिक पक्ष के बारे में विस्तृत चर्चा की।

मुख्य सचिव ने बसेड़ी निवासी प्रगतिशील कृषक श्री भैरू राम थाकन के फार्म हाउस पर संरक्षित खेती, ग्रीन हाउस, शेडनेट हाउस, प्लास्टिक मल्च, और लो टनल आदि में पैदा की जा रही सब्जियों के बारे में जानकारी ली। कृषकों ने बताया कि लो टनल से लगभग 1 महीने पूर्व फसल प्राप्त की जाती है जिसे बाजार में बेचने पर अच्छा मुनाफा कमाया जा रहा है। कृषक बाबूलाल मेहरिया के खेत पर क्षेत्र के कृषकों के साथ मुख्य सचिव द्वारा कृषि एवं उद्यानिकी में अपनाई जा रही उन्नत तकनीकी, नवाचार एवं अन्य आर्थिक पहलुओं पर चर्चा की गई। कृषकों द्वारा बताया गया कि नवीन तकनीकी द्वारा एक कृषक प्रति एकड़ 10 से 15 लाख की आय प्राप्त कर रहे हैं। श्रीमती उषा शर्मा ने राज्य सरकार के कृषि एवं उद्यानिकी विभाग द्वारा किसानों के लिए अनुदान पर चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी देते हुए किसानों से आह्वान किया कि वे आगे आकर इन सभी योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उठाएं और तरक्की की दिशा में आगे बढ़े।

इस दौरान आयुक्त उद्यानिकी श्रीमती शुभम चौधरी, अतिरिक्त निदेशक कृषि केसी मीणा, रामलाल मीणा, संयुक्त निदेशक उद्यानिकी राजेंद्र सिंह खीचड़, भंवराराम कड़वा, राकेश पाटनी, दानवीर वर्मा, देवेंद्र चौधरी और कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

महत्वपूर्ण खबर : राजस्थान में किसानों को सोलर पंप पर 60 प्रतिशत तक का अनुदान

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *