छत्तीसगढ राज्य मे ङ्रौन तकनीकी द्वारा धान फसल मे नैनो यूरिया तरल के उपयोग का शुभारंभ

Share

07 सितम्बर 2022, रायपुर: छत्तीसगढ राज्य मे ङ्रौन तकनीकी द्वारा धान फसल मे नैनो यूरिया तरल के उपयोग का शुभारंभ – इफको द्वारा जिला महासमुंद मे विश्व के पहले नैनो यूरिया तरल का उपयोग धान फसल मे ङ्रौन द्वारा शुरू करवाया गया है। किसानो द्वारा बङी संख्या मे ग्राम झालखमरिया मे पहली बार ङ्रौन से नैनो यूरिया तरल के स्प्रै को देखकर रौंमाच का अनुभव किया।

इफको के प्रयास से छत्तीसगढ राज्य मे प्रथम वार जिला महासमुंद से ङ्रौन तकनीक का प्रदर्शन का शुभारंभ किया गया है। ङ्रौन द्वारा एक एकङ धान फसल मे मात्र 08-10 मिनिट मे नैनो यूरिया का स्प्रै पूर्ण किया गया । जबकि लेबर द्वारा इसी कार्य को करने मे लगभग 1घंटे से ज्यादा समय लगता है।

इफको द्वारा लगभग 10 एकङ धान फसल मे नैनो यूरिया तरल का ङ्रौन द्वारा स्प्रै करवाया गया है। इफको नैनो यूरिया तरल भारत सरकार द्वारा अनुमोदित विश्व का पहला नैनो उर्वरक है जोकि एफसीओ द्वारा प्रमाणित एंव पर्यावरण हितेषी उर्वरक है ,जिसकी 500 मिली की एक बाटल की ताकत लगभग एक बौरी यूरिया के बराबर है। इसके उपयोग से धान फसल मे कीट-रोग प्रकोप बहुत कम होता है और गुणवत्ता मे सुधार होता है।

किसान भाई नैनो यूरिया का उपयोग किसी भी फसल मे ,सब्जीयो मे या फल-फूल वाली सभी किस्मो मे रौपाई या बुआई के 40-45 दिन बाद स्प्रै द्वारा कर सकते है।

कार्यक्रम मे क्षेत्र के प्रगतिशील कृषक श्री प्रमोद साकरकर,श्री श्याम साकरकर,श्री हरिकृष्ण भार्गव ,श्री धर्मेन्द्र साकरकर , श्री जूगनु चन्द्राकर जिला जनपद सदस्य,श्री लोकेश चन्द्राकर जिला जनपद सदस्य, श्री भोजराम साहू -समिति प्रबंधक झालखमरिया, इफको से ङा.एस.के सिंग ,मुख्य प्रबंधक(कृ.सेवाए) रायपुर , ङ्रौन प्रदायक कम्पनी रायपुर से श्री कंचन श्रीवास्तव उपस्थित रहे। कार्यक्रम का आयोजन श्री आर.एस. तिवारी राज्य विपणन प्रबंधक इफको के मार्गदर्शन मे राजेश कुमार गोले ,मुख्य क्षेत्र प्रबंधक इफको महासमुंद द्वारा किया गया।

महत्वपूर्ण खबर: 5 सितंबर इंदौर मंडी भाव, प्याज में एक बार फिर आया उछाल 

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.