रायपुर में 6 अप्रैल को होगी वृहद कृषक संगोष्ठी

Share

सब्जी कीट प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं एवं डिजिटल फॉर्मिंग पर चर्चा होगी

29 मार्च 2022, इंदौर । रायपुर में 6 अप्रैल को होगी वृहद कृषक संगोष्ठी नेटाफिम इरिगेशन इंडिया प्रा. लि., सिंजेंटा इंडिया लि., वीएनआर एग्रोमेट्रिक्स और वीएनआर सीड्स प्रा. लि. के संयुक्त तत्वावधान में आगामी 6 अप्रैल को रायपुर में वृहद कृषक संगोष्ठी का आयोजन किया गया है, जिसमें विभिन्न कृषि वैज्ञानिक टमाटर, मिर्च, लौकी और मक्का फसल के विभिन्न कीटों और उन पर कीटनाशकों के प्रयोगों पर अपने विचार व्यक्त करेंगे। इस दौरान कृषक भी अपने अनुभव साझा करेंगे।

पंजीयन आवश्यक

होटल कोर्टयार्ड बॉय मैरिएट, नेशनल हाईवे-6 लाभांडी, रायपुर में आयोजित इस संगोष्ठी में शामिल होने के लिए पंजीयन होना अनिवार्य है। पंजीयन शुल्क 500 रुपए रखा गया है। यह गोष्ठी प्रात: 8 बजे से शाम 6:30 तक निरंतर चलेगी। संगोष्ठी का शुभारम्भ प्रात: 9 बजे मुख्य अतिथि डॉ. गिरीश चंदेल, कुलपति, इंदिरा गाँधी कृषि विवि, दीप प्रज्ज्वलित कर सम्बोधित करेंगे।

किसान बताएंगे अनुभव

इसके बाद मिर्च और शिमला मिर्च की फसलों में ब्लैक थ्रिप्स के प्रकोप पर किसान अपने अनुभव साझा करेंगे। ब्लैक थ्रिप्स -परिचय एवं प्रबंधन विषय पर डॉ. प्रसन्न कुमार एन आर, वैज्ञानिक भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान, बेंगलुरु एक घंटे का व्याख्यान देंगे। इसके बाद अगले 15 मिनट तक टमाटर की फसल में लीफ माइनर (टूटा ऐब्सोल्यूटा) के प्रकोप पर किसान अपने अनुभव बताएंगे। इसके बाद डेढ़ घंटे की अवधि में लीफ लाइनर प्रबंधन और फिर मक्का फॉल आर्मी वर्म प्रबंधन पर डॉ. श्रीधर वी, प्रधान वैज्ञानिक, भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान, बेंगलुरु अपने विचार वक्त करेंगे।

फॉल आर्मी वार्म पर चर्चा

फॉल आर्मी वर्म के वैश्विक परिदृश्य एवं प्रबंधन पर दोपहर 12:15 बजे अलेक्सांद्रे जोस, प्रमुख, एशिया पैसिफिक, तकनीकी सहयोग विभाग, सिंजेंटा क्रॉप प्रोटेक्शन सिंगापुर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आधा घंटा सम्बोधित करेंगे। जबकि अगले आधे घंटे में डॉ. पंकज चुघ, संभागीय विपणन प्रमुख, सेन्ट्रल संभाग, सिंजेंटा क्रॉप प्रोटेक्शन, कीटनाशक के सुरक्षित उपयोग की विधियां बताएंगे।

तकनीकी सत्र होंगे

दोपहर 1 से 2 बजे तक के भोजनावकाश के बाद दूसरे सत्र में 2 से 2:30 बजे तक डॉ. रॉबर्ट सेन, ग्लोबल तकनीकी प्रबंधक, कीटनाशक इकाई, सिंजेंटा क्रॉप प्रोटेक्शन लीफ लाइनर के वैश्विक परिदृश्य और प्रबंधन पर स्विट्जरलैंड से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रकाश डालेंगे। जबकि 2:30 से 3 बजे तक डॉ. एन. पज्हानिसामी, प्रमुख, एशिया पैसिफिक, सिंजेंटा क्रॉप प्रोटेक्शन, थ्रिप्स की जीव पारिस्थितिकी एवं प्रबंधन पर अपने विचार प्रकट करेंगे। दोपहर 3 से 3:30 तक डॉ. नवाब अली, प्रमुख, तकनीकी सहयोग विभाग, भारत, सिंजेंटा क्रॉप प्रोटेक्शन, कद्दूवर्गीय फसलों में ग्रीन मिरिड बग के प्रबंधन पर विस्तृत जानकारी देंगे। इसके पश्चात 3:30 से 4 बजे तक श्री नरेंद्र धन्द्रे, उप महाप्रबंधक, नेटाफिम इरिगेशन इंडिया प्रा. लि., टपक सिंचाई प्रणाली के रखरखाव के बारे में बताएंगे। शाम 4 से 4:30 तक श्री तुषार करण्डे, प्रबंधक, डिजिटल फार्मिंग सोल्यूशंस, नेटाफिम इरिगेशन इंडिया प्रा. लि., अपने विभाग की जानकारी देंगे। शाम 4:30 से 6:30 तक के दो घंटे के प्रश्नोत्तर काल में किसान अपने सवालों के जवाब पा सकेंगे। सत्र में तकनीकी अनुदेशक और अनुवादक का दायित्व श्री विमल चावड़ा निभाएंगे। पंजीयन संबंधी जानकारी के लिए रायपुर संभाग के श्री डोमार साहू से मो.: 9981995358 पर सम्पर्क करें।

महत्वपूर्ण खबर: हरदा में खुलेगा प्रदेश का तीसरा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस : श्री पटेल

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.