कृषि विज्ञान केन्द्र एग्री इनोवेटर्स और स्टार्टअप से किसानों को अपनी आय बढ़ाने में मदद मिलेगी

Share

12 दिसम्बर 2022, भोपाल: कृषि विज्ञान केन्द्र – एग्री इनोवेटर्स और स्टार्टअप से किसानों को अपनी आय बढ़ाने में मदद मिलेगी – मध्य प्रदेश के बालाघाट कृषि विज्ञान केन्द्र में एग्री इनोवेटर्स और स्टार्टअप जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कृषि विज्ञान केन्द्र, बालाघाट में वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. आर.एल. राऊत के मार्गदर्षन में एग्री इनोवेटर्स और स्टार्टअप जागरूक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में जवाहरलाल नेहरू कृषि विष्वविद्यालय, जबलपुर के एग्री बिजनेस प्रबंधन संस्थान से प्रबंधक डॉ. लवीना शर्मा, बिजनेस एक्सीक्यूटिव डॉ. दीपक पाल शामिल एवं डॉ. हेमन्त राहंगडाले शामिल हुए। स्टार्टअप जागरूक कार्यक्रम में किसानों एवं छात्र-छात्राओं को कृषि से संबंधित स्टार्टअप कार्यक्रमों एवं जवाहर एग्रीबिजनेस इनक्यूबेटर कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी गई। साथ ही बताया गया कि कृषि कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आरकेव्हीवाय-रफ्तार एग्री बिजनेस की स्थापना 2018-19 में देष के 29 केन्द्रों की गई थी तथा यह कार्यक्रम जवाहरलाल नेहरू कृषि विष्वविद्यालय में जवाहर रबी के नाम वर्ष 2019 चालू किया गया।राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत कृषि संबंधित उद्योग पषुपालन, सांख्यिकी, डेयरी विकास, कृषि वानिकी, कृषि विपणन आदि कृषि संबंधित क्षेत्र से संबंधित कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। केन्द्र प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. राऊत ने बताया कि स्टार्टअप कार्यक्रम से कृषि व्यवसायिक रूप देने के लिए कड़ी मेहनत और भविष्य में आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका साबित होगी। इसके द्वारा व्यवसायीकरण से किसानों को अपनी आय बढ़ाने खेती में लागत कम करने उत्पादकता बढ़ाने तथा कृषि में ऊर्जा के उपयोग के अनुकूलन में सहायता मिलेगी। इस कार्यक्रम में केन्द्र के डॉ. एस.आर. धुवारे, डॉ. रमेष अमूले, श्री धमेन्द्र आगाषे, कुमारी अंजना गुप्ता, श्री जितेन्द्र नगपुरे एवं श्रीमति अन्नपूर्णा उपस्थित थें।

महत्वपूर्ण खबर: गेहूं में उर्वरकों की मात्रा एवं उनका प्रयोग

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *