खरपतवार निदेशालय में हिंदी कार्यशाला आयोजित

Share

14 जुलाई 2022, जबलपुर: खरपतवार निदेशालय में हिंदी कार्यशाला आयोजित – खरपतवार अनुसंधान निदेशालय, जबलपुर में अधिकारियों/कर्मचारियों हेतु हिंदी कार्यशाला आयोजित की गई। ‘आज़ादी के 75 वर्ष और सरकारी कामकाज में राजभाषा हिंदी का महत्व ‘ विषय पर श्री शोभुन चौधरी,अपर महाप्रबंधक, पश्चिम मध्य रेलवे , जबलपुर द्वारा व्याख्यान दिया गया। इस आयोजन में निदेशक डॉ जे एस मिश्र ,श्री रामरंजन श्रीवास्तव ,सचिव नराकास के अलावा 80 से अधिक कर्मचारी शामिल हुए।

श्री चौधरी ने अपने व्याख्यान में अपनी भाषा का अभिनन्दन करते हुए उपस्थितों से आग्रह किया कि राजभाषा अधिनियम 1963 के विभिन्न पहलुओं एवं राजभाषा के प्रयोग -प्रसार हेतु सरकारी कामकाज में अधिक से अधिक हिंदी का प्रयोग करें।  आपने नस्तियों और पंजियों के शीर्षक हिंदी /द्विभाषी रखने का भी सुझाव दिया। इसके साथ ही भारतीय रेलवे की आज़ादी के संघर्ष में भूमिका एवं विकास कार्यों की चर्चा कर कहा कि भारतीय रेल देश के सकल माल यातायात का एक चौथाई हिस्सा परिवहन करती है। जिसमें कोयले का 70 %,उर्वरक का 18%,लौह अयस्क का 56 %,सीमेंट का 46 %,समस्त पीओएल 22 % और खाद्य सामग्री का 18 % रहता है।

डॉ जे एस मिश्र ने कहा कि निदेशालय का उद्देश्य वैज्ञानिक तकनीकों के विकास और शोध का है, इसके बावज़ूद निदेशालय में शोध एवं अनुसंधान के क्षेत्र में लेखन कार्यों में अधिक से अधिक हिंदी का प्रयोग किया जाता है, जिससे किसानों को सरल भाषा में अनुसंधान संबंधी जानकारी प्राप्त होती है और हिंदी का प्रचार -प्रसार भी बढ़ता है। निदेशालय में राजभाषा कार्यान्वयन समिति द्वारा समय-समय पर हिंदी कार्यशालाओं का आयोजन किया जाता है, जिससे उपयोगी और ज्ञानवर्धक सामग्री प्ऱप्त होती है ,जो प्रशंसनीय है। मंच संचालन श्री बसंत मिश्रा , प्रभारी राजभाषा ने किया और आभार डॉ पीके सिंह, प्रधान वैज्ञानिक ने माना।

महत्वपूर्ण खबर: सोयाबीन कृषकों को कृषि विभाग की उपयोगी सलाह

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.