राज्य कृषि समाचार (State News)

लू एवं ताप घात से बचाव के लिए सुनिश्चित करें माकूल प्रबंध, अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा ने सभी जिला कलेक्टर्स को लिखा पत्र

Share

22 मई 2024, जयपुर: लू एवं ताप घात से बचाव के लिए सुनिश्चित करें माकूल प्रबंध, अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा ने सभी जिला कलेक्टर्स को लिखा पत्र – जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री मती शुभ्रा सिंह ने तेज गर्मी एवं लू की स्थिति के दृष्टिगत सभी जिला कलेक्टर्स को पत्र लिखकर आवश्यक प्रबंध सुनिश्चि त करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही , विभिन्न विभागों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए लू एवं ताप घात से संबंधित सभी व्यवस्थाओं की गहन मॉनिटरिंग करने के भी निर्देश दिए हैं।

श्री मती सिंह ने पत्र में कहा है कि अत्यधिक गर्मी को देखते हुए मानव जीवन को सुरक्षित रखना हमारा प्रमुख दायित्व है। हीट वेव रिलेटेड बीमारियों के संबंध में भा रत सरकार ने अलर्ट जारी किया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा आपातकालीन सेवाओं के संचालन हेतु विभिन्न बैठकों , प्रशिक्षण का र्यक्रमों , मॉक ड्रिल, तथा वी .सी . के माध्यम से सभी आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित की गई हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अत्यधिक गर्मी एवं लू की स्थिति में आमजन को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवा ने के साथ ही व्यापक जन-जागरूकता गति विधियां भी आयोजित कर रहा है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कहा है कि इन व्यवस्थाओं के संबंध में वन विभाग, राजस्थान पॉल्यूशन कन्ट्रोल बोर्ड, आपदा प्रबन्धन विभाग, कृषि विभाग, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग, महिला एवं बाल विकास, मौसम विभाग, स्थानीय निकाय विभाग तथा जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से समन्वय स्थापित कर कार्य- योजना बनाया जाना अपेक्षित है। चिकित्सा संस्थानों में फायर एन.ओ.सी , पानी तथा बिजली की निर्बा ध आपूर्ति ,ऑक्सीजन तथा एम्बुलेंस की सुविधा अत्यंत आवश्यक है।

श्री मती सिंह ने जिला कलेक्टर्स से अपेक्षा की है कि वे भामाशाहों , गैर-सरकारी संगठनों , धार्मिक ट्रस्टों को प्रेरित कर तथा संबंधित विभागों के जिलाधिकारीयों को उचित दिशा -निर्देश प्रदान कर लू एवं तापघात से बचाव के लिए माकूल इंतजाम सुनिश्चित करें। साथ ही , किसी तरह की आपात या असाधारण स्थिति उत्पन्न होने पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग तथा राज्य सरकार को तुरन्त अवगत कराएं।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

www.krishakjagat.org

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements